चचेरी बहन और भतीजी दोनों को चोदा- 1 (Hot Nude Girl Chudai Kahani)

हॉट न्यूड गर्ल चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी भतीजी को लेकर अपनी चचेरी बहन के घर गया तो मैंने उसे पूरी नंगी देख लिया. मैं खुद पर काबू ना रख पाया.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम यशवंत है. लोग मुझे प्यार से यश कहते हैं.
मैं देहरादून का रहने वाला हूँ. मेरी उम्र 44 साल है.

मेरी एक चचेरी बहन है, जिसका नाम याचना है. उसकी उम्र 34 साल है.
मेरी मुँह बोली बहन शादीशुदा है और उसके दो बच्चे हैं.

हमारा संयुक्त परिवार है. हमारे साथ एक 18 साल की मेरी और याचना की भतीजी भी रहती है. उसका नाम सुमित्रा है और उसे हम सब प्यार से सुमी कहते हैं.

इस हॉट न्यूड गर्ल चुदाई कहानी में मैंने उसकी बहन के साथ सेक्स किया.

एक बार मैं याचना के घर हरिद्वार गया था तो साथ में सुमी भी थी.

हम वहां 11 बजे पहुंचने वाले थे, पर रास्ते में ट्रेफिक कम होने के कारण हम एक घंटा पहले ही पहुंच गए थे.
मेरे जीजा यानि मेरी बहन का पति अक्सर काम के सिलसिले में बाहर रहता है, इस समय भी वो बाहर ही था.

मैंने अपनी बहन के घर आ गया.
घर के अन्दर आकर मैंने सुमी को डाइनिंग हॉल में बैठा दिया.

मैंने अपनी बहन को आवाज दी, पर उसका कोई जवाब नहीं आया.
मैं हैरान था कि घर खुला छोड़ कर मेरी बहन कहां चली गई. उसके बच्चे भी नहीं दिखाई दे रहे थे.

मैंने उसे काफी आवाज दी पर वो नहीं आई.
तब मैं सीधे उसके बेडरूम में चला गया और मुझे समझ आया कि शायद वो बाथरूम में नहाने गयी थी क्योंकि बाथरूम से पानी गिरने की आवाज आ रही थी.

कुछ देर बाद जैसे ही वो बाथरूम से बाहर निकली तो मुझे सामने देख कर वो एकदम से चौंक गयी क्योंकि वो बाथरूम से नंगी बाहर आई थी.
उसे जरा भी अहसास नहीं हुआ था कि उसका भाई समय से पहले आ गया होगा.

मेरी निगाह अपनी बहन के कामुक बदन पर गड़ कर रह गई.
आह सच में मेरी बहन याचना बड़ी मस्त माल लग रही थी. उसकी मस्त चूचियां एकदम तनी हुई थीं.

ना चाहते हुए भी उनको छूने दबाने और चूसने का मन कर रहा था.
वो पलट कर वापस बाथरूम में जाने को हुई तो बाथरूम का दरवाजा फंस गया था.

ये बाद में मालूम हुआ कि उस दरवाजे की कुण्डी कुछ खराब थी, जो कभी कभी अपने आप से लग जाती थी फिर काफी कोशिश करने पर खुलती थी.

मेरी बहन वापस अन्दर नहीं जा पा रही थी और सामने से मैं खड़ा था, तो वो मेरी तरफ भी नहीं आ पा रही थी.

इधर मैं टकटकी लगा कर अपनी बहन याचना का हॉट और नंगा बदन देखे जा रहा था.
पैंट के अन्दर ही मेरा लंड खड़ा हो गया.

मेरी बहन याचना अपने नंगे बदन को अपने हाथों से और दोनों पैरों को सटा कर छुपाने की कोशिश कर रही थी.

तभी उसकी नजर मेरी पैंट पर पड़ी तो वो हॉट न्यूड गर्ल भी समझ गयी और शरमा कर मुस्कुराने लगी.

मैं बिना झिझक के आगे बढ़ा और मैंने सीधे अपनी बहन की एक चूची पर हाथ रख दिया.
याचना ने अपना मुँह दूसरी तरफ फेर दिया, वो एक हल्की सी इस्स के अलावा और कुछ नहीं बोली.

उसकी इस तरह की हरकत से मुझे और हिम्मत मिल गई … शायद उसे भी सेक्स की बहुत जरूरत थी.
मैंने उसकी एक चूची को हाथ से दबाना शुरू किया और दूसरी को मुँह में लेकर चूसने लगा.

आह मुझे कितना मजा आ रहा था.
मैं चूचियों को बदल बदल कर चूसने का मजा ले रहा था.
एक चूची जी भरकर चूसता था, फिर कुछ देर बाद दूसरी चूची को मैं अपने मुँह में भर लेता था.

मेरा दिल कर रहा था कि याचना की चूचियों को आज कच्चा ही खा जाऊं.
दूसरी तरफ याचना भी अब तक मुझे अपना सैयां मान चुकी थी और मेरे सर को अपने हाथों से सहलाती हुई अपनी दोनों चूचियां बारी बारी से मेरे मुँह में दे रही थी.

कुछ ही देर में हम दोनों की झिझक और शर्म ख़त्म हो चुकी थी.
अब मैं उसके दूधिया थन पीने में मस्त था.
उसके निपल्स काम की ज्वाला में जलकर एकदम से कड़क हो गए थे और फूल गए थे.

मैं जीभ लगाकर किसी बच्चे की तरह उसके कड़क हो चुके चूचुकों को तन्मयता से चूस रहा था.
याचना भी मेरा पूरा साथ दे रही थी.

कुछ देर बाद मैंने अपनी नंगी बहन याचना को गोदी में उठाया और उसे बिस्तर पर लिटा दिया.
उसके लेटते ही मैं उसकी रसीली की चूत की तरफ आ गया और उसकी चूत चाटने लगा.

मेरी बहन ने शायद कुछ दिन पहले ही झांटें बनाई थीं.
उसकी चूत पर छोटे छोटे बाल थे, जिसकी वजह से उसकी चूत और भी सेक्सी और रसीली लग रही थी.
मैंने उंगली से उसकी चूत फैलाई और जीभ सीधी अन्दर डाल दी.

अब याचना को भी अपनी चूत चटवाने में खूब मजा रहा था, वो गांड उठा उठा कर मेरे मुँह में अपनी चूत दे रही थी.
मुझे ये पक्का हो गया था कि उसको कई दिनों से लंड नहीं मिला था और चुदाई के लिए प्यासी थी.

आज उसे लंड मिलने की आस जाग गई थी जिस वजह से वो मेरे साथ लग गई थी.
मेरी जीभ किसी कुत्ते की तरह लपलपा रही थी और याचना की चूत के दाने और उसकी फांकों को निरंतर चाट रही थी.

उसे बहुत मजा आ रहा था और वो बेकाबू हो रही थी.

कुछ देर बाद मैंने अपनी दो उंगलियां याचना के भोसड़े में पेल दीं और अन्दर बाहर करने लगा.
याचना मादक आवाज भरती हुई ‘आई आई … अहह … सीई … ’ करने लगी थी.

मुझे उसकी कामुक सिसकारियां बहुत मीठी लग रही थीं इसलिए मैंने अपनी उंगलियों को तेज तेज अन्दर बाहर करते हुए उसकी तर गुलाबी और भरी हुई चूत में कर रहा था.
याचना बेकाबू और बेताब हुई जा रही थी.

मैंने किसी तरह की जल्दीबाजी नहीं दिखाई और उसकी चूत में उंगली करता रहा.
कुछ ही देर में मेरी मेहनत रंग लाई और मेरी बहन याचना की चूत रस छोड़ने से एकदम गीली हो गयी थी.

बहन की चूत में लंड घुसाने का सही समय हो गया था. याचना की चूत की फांकें बहुत लाल लाल हो गई थीं.

मैंने अपनी पैंट खोली और अपना लंड याचना की चूत में सैट करके पेल दिया.

वो आह करके लंड गड़प कर गई.
मैंने उसे दबादब चोदने लगा.

मेरी बहन याचना बोली- आह भाई … मुझे बहुत अच्छा लग रहा है आह … प्लीज़ मुझे रगड़ कर चोदो. तुम ये बिल्कुल भी मत सोचना कि मैं तुम्हारी बहन हूँ. तुम मुझे अपनी पत्नी समझ कर चोदो. मैं बहुत प्यासी हूँ.

यह सुन कर मैं जोश में आ गया … और तेजी से धक्के लगाने लगा.
मेरे हर धक्के के साथ उसकी चूत खुल बंद हो रही थी.

थोड़ी देर बाद वह भी फुल मस्ती में आ गई और गांड उछाल-उछाल कर मेरा लंड अपने अन्दर लेने लगी.
याचना नंबर एक क्वालिटी वाली माल थी. वो लंड लेती हुई मेरे चेहरे को सहला रही थी और चूम रही थी.

मैं अब उसको धीमे धीमे पेलने लगा था.
चुदते चुदते याचना का मुँह खुल जाता था और बड़ा हॉट चेहरा बन जाता था.

मेरे धक्के धीरे धीरे तेज और तेज होने लगे.

वो अपने होंठ दांतों से चबा रही थी, जिसमें वो बेहद चुदासी और सेक्सी लग रही थी ‘ओह गॉड. ओह गॉड … यस बेबी … ओह यस … और तेज पेलो रुकना मत भाई.’
मैं जोर जोर से उसकी चूत में धक्के मारने लगा.
पच पच की याचना के चुदने की मीठी आवाज कमरे में गूंजने लगी.

इस समय मेरी बहन याचना बिल्कुल कोई होर्नी स्लट या बाजारू रंडी जैसी लग रही थी.

‘ओह्ह गॉड … ओह्ह चोद दो भैया … और तेज चोदो …’ अब मेरी बहन याचना लगभग गुर्राने लगी थी.
मैं भी उसे चूमता हुआ जबरदस्त चोद रहा था.

मैंने उसे रगड़ते हुए पूछा- मेरा लंड कैसा लग रहा है बहना?
वो- ओह्ह भैया तुम जबरदस्त चोदू हो आह उईई भैया और चोदो … आह आज अपनी बहन को रांड बनाकर चोदते रहो. मैं पहले से ही दो बच्चों की माँ हूँ … अपने लंड से चोद चोद कर एक और बच्चे की माँ बना दो … आह!

मैंने उसके गाल और मम्मों पर कस कसके दो चांटे मार दिए, कहा- आह साली कुतिया … मां की लवड़ी साली … आज तेरी चूत का भोसड़ा बना दूँगा.
मैं और जोर जोर से धक्के मारने लगा.

याचना की टांगें हवा में उठ गई थीं और वो अपनी चूत को अच्छे से चुदवाने लगी थी.

मेरा लंड उसकी चूत से रगड़ कर और भी ज्यादा फूल गया था और चूत का भर्ता बना रहा था.

तभी उसकी चूत से कुछ गाढ़ा मक्खन जैसा माल मेरे लंड पर लग गया था, जिससे लंड को अन्दर बाहर करने में मुझे और चिकनाई और फिसलन मिल रही थी.
मैं अपनी बहन की चुदाई में इतना खो गया था कि मैं भूल ही गया कि बाहर हमारी भतीजी सुमी भी है और कमरे का दरवाजा भी खुला हुआ है.

उसका ध्यान आते ही मैंने दरवाजे की तरफ मुँह घुमाया.
अगले ही पल मेरी गांड फट गई.

सुमी तो दरवाजे पर खड़ी होकर हमारी चुदाई देख रही थी.
वो जिस नजर से हम दोनों को चुदाई करते देख रही थी उससे साफ़ पता चल रहा था कि वो काफी देर से नजारा देख रही है और खुद भी मजे ले रही है.

मैं उसे देख कर चौंक गया और मैंने तुरंत याचना की चूत लंड बाहर निकाल दिया.
याचना अभी मेरी भतीजी के खड़ी होने के अहसास से अनजान थी.

वो कहने लगी- क्या हुआ भाई … लंड क्यों निकाल लिया. कितना मजा आ रहा था … पेलो न जल्दी से!
मैंने उसे इशारा करके धीमे से कहा- बाहर देख दरवाजे पर!

उसने देखा, तो वो भी चौंक गयी और घबरा कर कहने लगी- सुमी तुम? तुम कब से देख रही ये सब … चलो बाहर जाओ.
सुमी बिंदास बोली- बुआ, मैं बहुत देर से देख रही हूँ. आप करो … मस्त सीन चल रहा है.

याचना ने उसके भाव को समझा और कहा- प्लीज़ सुमी, किसी को कहना मत!
सुमी ने कहा- हां किसी को नहीं बोलूंगी, पर फिर से करो … वो भी मेरे सामने. मुझे भी बहुत मजा रहा है.

अब याचना ने मेरी तरफ देख कर कहा- करो, वरना वो सब बता देगी.
मैंने याचना से कहा- ओके अब जो हुआ सो हुआ. अब तुम मेरे ऊपर आकर करो.

याचना मेरे नीचे से उठी और मेरे ऊपर आ गयी.
उसने मेरा लंड पकड़ा और अपनी चूत में रख कर ऊपर से धक्का दे मारा.

मेरी भतीजी सुमी वहीं सोफे पर बैठ गयी.
उस दिन उसने पीले रंग की लॉन्ग ड्रेस पहन रखी थी.
वो भी शायद हमारी चुदाई देख कर गर्म हो चुकी थी.

उसका बॉयफ्रेंड तो था, पर वो कभी चुदी नहीं थी.
ये मुझे बाद में जब उसे चोदा तब समझ में आया था.

हमारी चुदाई देख कर उसे कुछ अलग ही महसूस हो रहा था.

अब याचना ऊपर से धक्के मारने लगी.
मैं अपने ही सगी भतीजी के सामने ही अपनी बहन को चोद रहा था, बहुत मजा आ रहा था.
मेरी भतीजी को भी मजा आने लगा तो उसने अपनी ड्रेस ऊपर की और अपनी बुर सहलाने लगी.

अब मैं नीचे से ही अपना लंड उठा कर याचना की चूत में धक्के मारने लगा.

उधर मेरी बेटी सुमी ने अपनी ड्रेस निकाल कर अलग फेंक दी.
अब उसकी शर्म भी खत्म हो चुकी थी. मेरे देखते ही देखते उसने अपनी ब्रा और पैंटी भी निकाल दी.

उसका गोरा और कुंवारा तन देख कर मैं अपनी बहन याचना को भूल बैठा. मेरी भतीजी के तन ने मुझे बिल्कुल मदहोश कर दिया.
सच में क्या कामुक बदन था उसका … मैं समझ ही नहीं पाया कि इस तरह का बदन … और आज तक ये माल मेरे ही साथ थी.

मैं भूल गया था कि मैं उसका चाचा हूँ.

याचना नीचे से धक्के मारे जा रही थी पर मेरी नज़र तो अपनी भतीजी की कमसिन जवानी पर थी.
सुमी नंगी होकर सीधे बिस्तर पर आ गयी और याचना की जांघ पर ठोड़ी रख कर याचना की चूत में घुसे लंड को देख रही थी.

वो कहने लगी- बुआ, आपकी चूत तो आज भी बहुत गोरी है!
ये कहने के बाद उसने सीधे बुआ के होंठों पर अपने होंठों को रखा और चूसने लगी.
साथ ही वो याचना की चूची दबाने लगी.

मैंने पूछा- तूने ये सब कहां से और कैसे सीखा?
वो कहने लगी- चाचा, मैं और मेरी सहेली अक्सर लेस्बियन सेक्स करती हैं.

कुछ देर बाद याचना मेरे लंड से नीचे उतरी और उसने कहा- भाई, अब मुझे मेरी टांगें चौड़ी करके चोदो.
उसने ये कह कर अपनी टांगें किसी रांड की तरह से फैला दीं.

सुमी कहने लगी- चाचा, एक मिनट रुको.
वो अपनी बुआ की चूत चाटने लगी.
इसकी उम्मीद याचना को बिल्कुल नहीं थी, पर उसे मजा आ रहा था.
इससे पहले किसी भी लड़की ने याचना की चूत नहीं चाटी थी.

सुमी थोड़ी देर चूत चाटने के बाद सीधा उठी और उसने मेरा लंड पकड़ लिया.
मैं कुछ समझ पाता कि उसने मेरे लंड को अपने मुँह में भरा और चूसने लगी.

मैंने झट से लंड खींच लिया और कहा- ये क्या कर रही है … तू मेरी भतीजी है!
पर वो मानी ही नहीं.
उसने दुबारा से लंड पकड़ा और मुँह में ले लिया.

उसका लंड चूसना बहुत ही आनन्दमय था.
याचना भी कहने लगी- भैया चूसने दो न उसे … कितना मस्त चूस रही है.
मैं चुप रह गया.

सुमी अब मेरा लंड बड़े मजे से चूस रही थी. वो बार बार लंड के गोटों को सहलाती जा रही थी, जिससे मुझे बड़ी सनसनी हो रही थी.
आज अपनी भतीजी को अपना लौड़ा चूसते देख कर मुझे सेक्स का असली मजा आ रहा था.

काफी देर अपनी बहन याचना को चोदने के बाद और फिर बेटी सुमी का इतना लंड चूसना, मेरे लंड के लिए हद से ज्यादा हो गया था.
मैं कब तक रुक सकता था. मेरे लंड ने हार मान ली और सुमी ने मेरे लौड़े का माल निकाल दिया.

मैंने भी बिना बताए सारा माल सुमी के मुँह में छोड़ दिया. सुमी ने भी बिना हिचक के मेरे लौड़े का सारा माल चाट लिया.
लंड पर लगा थोड़ा सा माल मेरी बहन याचना ने भी चाट लिया.

अब मेरा लंड ढीला हो गया था.

सुमी ने कहा- चाचा आपका लंड चूसने में मजा बहुत आया, पर जी नहीं भरा.

तो याचना कहने लगी- हां मेरा जी भी नहीं भरा. चलो ये सब बाद में फिर से करते हैं, पहले कुछ खाते पी लेते हैं. तुम लोगों को आए एक घंटा हो गया.

दोस्तो, हॉट न्यूड गर्ल चुदाई कहानी के अगले भाग में मैं आपको अपनी भतीजी की सीलपैक चूत की चुदाई की कहानी सुनाऊंगा.
मेरे साथ बने रहें और मुझे मेल करें.
[email protected]

हॉट न्यूड गर्ल चुदाई कहानी का अगला भाग: चचेरी बहन और भतीजी दोनों को चोदा- 2

About Abhilasha Bakshi

Check Also

बहन के साथ सुहागरात (Behan Ke Sath Suhagrat)

अन्तर्वासना के पाठकों को मेरा नमस्कार! मेरा नाम रुचित है और मैं दिल्ली का रहने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *