दोस्त की अम्मी की मस्त चुदाई- 2 (Hot Aunt Sex Kahani)

हॉट आंट सेक्स कहानी में मेरे दोस्त की अम्मी की दूसरी जोरदार चुदाई है. मैं पहली बार की चुदाई में ही आंटी की चूत के साथ साथ उनकी गांड भी मार चुका हूँ.

हैलो फ्रेंड्स, आप मेरी सेक्स कहानी में मेरे दोस्त की अम्मी की चुदाई का मजा ले रहे थे. मैं एक बार हॉट आंट के साथ सेक्स कर चुका था.
पहले भाग
दोस्त की अम्मी को दबा कर चोदा
में अब तक आपने पढ़ा था कि मैं साहिल शाह की अम्मी शन्नो बेगम की चुत गांड चोद चुका था. मैं एक बार हॉट आंट के साथ सेक्स कर चुका था.

अब आगे हॉट आंट सेक्स कहानी:

दूसरे दिन मैंने साहिल को बोला- आज मुझे मार्केट में कुछ काम है तो मैं कंपनी नहीं जाऊंगा.
साहिल ने ओके कह दिया और वो अपने जाने की तैयारी करने लगा.

दस बजे साहिल चला गया.

मैं अपने रूम में नंगा लेट कर सेक्स कहानी पढ़ रहा था.
तभी शन्नो कमरे में नाश्ता लेकर आ गई.

शन्नो आंटी बोली- राज नाश्ता कर लो … और तुम नंगे क्यों हो?
मैंने लंड हिलाते हुए कहा- मेरी रांड, तेरे लिए ही नंगा हूं. आज मैं कंपनी नहीं जाऊंगा. आज सारे दिन तेरी ही गांड चुत बजाऊंगा.

वो खुश हो गई. मेरा लौड़ा खड़ा था, शन्नो उसे देखकर अपने होंठों पर जीभ फिराने लगी.

मैंने नाश्ता उठा कर एक तरफ रखा और अपना एक हाथ शन्नो की मैक्सी में डाल कर उसकी चूचियों को मसलने लगा.

वो बोली- पहले नाश्ता खत्म कर लो, ठंडा हो जाएगा … फिर मुझे चोद लेना.

शायद वो खुद चुदाई करवाने के इरादे से मेरे कमरे में नाश्ता लाई थी.

मैंने उसे अपनी गोद में बिठाया और नाश्ता करने लगा. थोड़ी देर बाद नाश्ता खत्म होते ही शन्नो ने प्लेट को अलग रखा और घुटनों के बल बैठ कर मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी.

कुछ ही देर में वो बेकाबू होकर लंड चूस रही थी. मैंने उसकी मैक्सी ऊपर करके उसे नंगी कर दिया और 69 में लिटा कर उसकी चूत को अपने कब्जे में ले लिया.

कुछ देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर सीधा लिटा दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा, चूमने लगा. वो भी लंड को सहला रही थी.

मैंने उसे बिस्तर पर कुतिया बना दिया और उसके ऊपर चढ़ गया. अपने तने हुए लंड को शन्नो की गीली चूत में घुसा दिया और उसे चोदने लगा.

शन्नो रंडी की चूत खुल गई थी और वो ‘आह हहह ऊह हहहह …’ करके मस्ती से चुदवा रही थी.

मेरा लंड उस चूत को जमकर चोद रहा था.

शन्नो बोली- आह राज चोदो मुझे … और चोदो … मुझे रोज लंड से चुदाई का सपना आता था. आज मेरे बेटे की वजह से तुम्हारा लंड मिल गया तो मेरा सपना पूरा हो गया.
मैंने कहा- मतलब कैसे?

वो बोली- साहिल ही तो तुझे लेकर आया था.
मैंने कहा- हां ये तो है और मैं उसकी ही अम्मी को चोद रहा हूं.
वो हंस दी.

मैंने शन्नो रंडी को बोला- साली तुझे लंड से चुदने का बहुत चस्का है?
वो बोली- हां लंड मुझे बहुत पसंद हैं और मैं हमेशा सोचती थी कि मेरी चूत गांड में ऐसा लंड कब जाएगा. अब तो शौकत (पति) भी नहीं मुझे चोद पाता है.

कुछ पल बाद मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से चुत में अन्दर-बाहर करने लगा. वो गर्मागर्म सिसकारियां भरने लगी और अपनी गांड उठा-उठा कर मेरा साथ देने लगी.

अब हम दोनों के बीच की शर्म जा चुकी थी और एक दोस्त की अम्मी को मैं उसी के घर में रंडी बनाकर चोद रहा था.

कुछ देर बाद आसन बदला और अब शन्नो मेरे लौड़े पर सवार होकर सरपट भाग रही थी.
मैं नीचे से झटके पे झटके मार रहा था. उसकी चूचियां बेहद हिल रही थीं.

वो मेरे लंड पर सवार होकर ऐसे उछल उछल कर गांड पटकने लगी जैसे किसी इंजन का पिस्टन चालू कर दिया गया हो.

पांच मिनट बाद शन्नो ने ‘आहह आहहह आहह …’ करके चूत से पानी छोड़ दिया.

चुत में रस भर गया था तो मेरा लंड अब फच्च फच्च करके चुत चोदने लगा.
वो धक्के रोक कर मेरे लंड पर बैठ गई थी और हांफने लगी.

ये देख कर मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा. उसकी चूत से गीला लंड निकाल कर गांड में घुसा दिया.

सटाक की आवाज करता हुआ मेरा पूरा लौड़ा गांड के अन्दर चला गया.

मैं तेज झटके लगाने लगा तो वो चिल्लाने लगी- आहह आहहह और तेज़ तेज़ चोदो … मैं रंडी हूं … मुझे बाजारू रंडी की तरह चोद साले हिन्दू लौड़े … अह और तेज चोद हरामी.

मुझे जोश आ गया और मैं तेज तेज झटके लगाने लगा- हां ले साली रंडी कुतिया … छिनाल … अम्मी ले मेरा लौड़ा … भोसड़ी वाली तेरा बेटा ही तेरे लिए लंड लाया है … ले साली अम्मी चुद हरामन.

मैं धकापेल चोदने लगा.

अब जितनी चुदाई होती जा रही थी … हमारे बीच उतनी गालियां बढ़ती जा रही थीं. पूरा कमरा मादक आवाजों से गूंज उठा था.
मैंने कहा- साली उठ अब तुझे घोड़ी बना कर चोदूंगा.

मैंने उसे घोड़ी बना दिया और उसकी गांड पर थप्पड़ मारने लगा.
वो मस्ती में चिल्लाती रही.

मैंने उसकी दोनों जांघों पर बैल्ट बांध दिया और उसकी गांड को थप्पड़ से लाल करने लगा.

वो चिल्लाने लगी- साले, अब गांड में डाल अपना लंड … पूरा घुसा … और चोद मुझे.

मैंने उसे झुका दिया और तेज़ झटके से लंड घुसा दिया.

‘याल्ला मर गई अम्मी रे … बचाओ मुझे …’
शन्नो चिल्लाने लगी.

और मैंने अपने लौड़े की रफ्तार तेज कर दी, लंड अन्दर-बाहर करने लगा.

मैंने कहा- साली, किसी को भी बुला ले … आज मेरे लंड से तुझे कोई नहीं बचा सकता.
अब मैंने बैल्ट खोल दिया और उसने अपनी टांगें फैला दीं. लंड आसानी से अन्दर बाहर होने लगा था.

मैंने उसके बाल पकड़ लिया और उसे घोड़ी जैसे खींचने लगा और चोदने लगा.

वो दर्द से चिल्लाती रही और मैं उसे चोदता रहा.
मुझे औरतों को ऐसे चोदने में बड़ा मज़ा आता है.

मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और बालों को पकड़ कर चोदने लगा.

कुछ देर बाद मेरा लौड़ा अन्दर ही झड़ गया और उसकी गांड में लंड घुसा कर उसके ऊपर ही गिर गया.

थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और उसकी चूचियों पर रगड़ना शुरू कर दिया.

उसके थोड़ी देर बाद वो नीचे आ गई.

वो नंगी थी.
मैं उसके पीछे पीछे आ गया.
वो बोली- मुझे किचन में काम करना है.
मैंने कहा- मुझे भी काम है.

वो हंसने लगी और किचन में आ गई.

मैंने उसे उठाकर अपने लौड़े पर बैठा दिया और वो लंड पर बैठ कर आटा लगाने लगी.
मैंने अपने लौड़े की रफ्तार तेज कर दी … वो लौड़े पर उछलते हुए आटा लगाने लगी.

थोड़ी देर बाद वो लंड से उठी और बोली- अब मुझे रोटी बनानी है.

वो रोटी बना रही थी, मैंने पीछे से अपना लंड गांड में घुसा दिया और चोदने लगा.

अब वो जैसे ही रोटी बेलती तो उसकी गांड आगे पीछे होती.

तभी में जोर से झटका लगा देता. कुछ देर बाद मैंने लंड चुत में पेल दिया और लंड चुत में रगड़ाई होने लगी.

आज मैं पहली बार किसी आंटी को उसी के किचन में चोद रहा था.

मेरे झटकों से उसकी चूत ने कुछ ही देर में पानी छोड़ दिया और उसका बेलन नीचे गिर गया.

मैंने लंड निकाल लिया और सामने पट्टी पर बैठ गया. वो रोटी बनाते बनाते बीच बीच में लंड चूसने लगी थी.

उसकी रोटियां जैसे ही बन कर खत्म हुईं, मैं उसे उठाकर बाहर ले आया और हॉल में पड़े सोफे पर झुका दिया, उसकी गांड में लंड डालकर चोदने लगा.

अब वो भी गांड में मस्ती से लौड़ा ले रही थी और ‘आह आहह …’ करके अपनी चूचियों को मसलने लगी थी.

कुछ देर बाद मैंने उसे उठाकर जमीन में लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया.
उसकी टांगें मम्मों पर दबा दीं और गांड में लंड घुसा कर गपागप गपागप चोदने लगा.

शन्नो बिल्कुल रंडी बन चुकी थी और उसी भाषा में बोल रही थी- आह चोद साले चोद अपने दोस्त की अम्मी की चूत गांड को जमकर चोद!

एक औरत लंड की इतनी दीवानी है, ये देखकर मेरा जोश और बढ़ गया और मैंने तेज़ तेज़ झटके लगाने शुरू कर दिए.

शन्नो देखने में सांवली जरूर थी लेकिन अब मुझे उसके रंग रूप से कोई मतलब नहीं था. मैं उसे चूम कर चोद रहा था.

मैंने उसे उठाकर सामने सोफे पर सीधा लिटा दिया और उसकी चूत में लंड घुसा कर ऊपर आ गया और गपागप गपागप चोदने लगा.

हम दोनों उत्तेजना के चरम पर आ गए थे और एक-दूसरे को पागलों के जैसे चूसने, चूमने लगे थे. चूत लंड अपना काम कर रहे थे और शन्नो मेरे होंठों को चूस रही थी.

कुछ झटकों के बाद एक बार फिर से शन्नो की चूत ने पानी छोड़ दिया. उसकी गीली चूत में मेरा लंड सटासट सटासट अन्दर तक जाने लगा.

दो मिनट बाद मेरा भी लंड थक गया था. मैंने शन्नो की चूत में वीर्य छोड़ दिया.

हम दोनों एक-दूसरे से लिपटकर कर सोफे पर ही लेट गए.

थोड़ी देर बाद दोनों ने नंगे ही एक दूसरे को खाना खिलाया.

शन्नो एक गिलास बादाम का दूध लेकर आई और बोली- राज तुम पी लो.
मैंने आधा गिलास पिया और शन्नो से बोला- तू भी पी ले.

शन्नो ने मेरा लौड़ा गिलास में डुबा दिया और उसे दूध में हिलाने लगी.
मेरा लौड़ा खड़ा हो गया और पूरा डूब गया.

थोड़ी देर बाद मैंने लंड निकाल लिया और शन्नो ने पहले लंड चूसा, फिर एक बार में पूरा गिलास पी गई.

अब हम दोनों फिर से गर्म हो गए थे और एक-दूसरे से चिपक कर चूमने लगे.

शन्नो बोली- राज मेरे बेडरूम में चलो. उधर ही खेलेंगे.

हम दोनों एक दूसरे को चूमते चूमते शन्नो के बेडरूम में आ गए थे.

शन्नो ने अपनी चूचियों और मेरे लौड़े पर चॉकलेट लगा दी और दोनों 69 की पोजीशन में आकर एक दूसरे को चूसने लगे और पूरी चॉकलेट खा गए.

फिर मैं बेड पर लेट गया और शन्नो लंड पर बैठ गई. उसकी चुत में लंड सट्ट से अन्दर चला गया और शन्नो लौड़े पर उछलने लगी.

मैंने उसकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया.
वो ‘आहह ल्ला अहह ल्ला …’ करके अपनी गांड तेज़ी से लंड पटकने लगी.

‘याल्ला बचाओ मुझे …’

मुझे बड़ा मजा आ रहा था. मैंने उसकी चूचियों को जोर जोर से मसलना शुरू कर दिया.

मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया. उसकी गांड के नीचे तकिया लगा दिया और उसकी चूत को चोदने लगा.

अब वो हर झटके में सिसकारने लगी और मैंने भी अपने झटकों की रफ्तार बढ़ा दी.

अब शन्नो का शरीर अकड़ने लगा और अहह अहह करके चूत ने पानी छोड़ दिया.
शन्नो ने मुझे अपनी बांहों की गिरफ्त में ले लिया.

मैंने लंड निकाल लिया और उसके होंठों पर रख दिया.
वो गपागप गपागप चूसने लगी.

फिर मैंने उसे घोड़ी बना दिया और उसकी गांड में थूक लगा कर अपना लौड़ा घुसा कर उसे चोदने लगा.
कुतिया बनी मुस्लिम रंडी शन्नो अपनी गांड आगे पीछे करके मज़े लेने लगी थी.

मैंने कहा- साली हल्ला हल्ला करके चुदाई करवा रही है कुतिया छिनाल … अम्मी … ले लौड़ा खा.
मैं तेज़ तेज़ चोदने लगा.

वो बोली- हां जब तू तेज झटका लगाता है … तो नाम ज़ुबान पर आ जाता है यार!

मैंने कहा- साली लंड का झटका तेरी गांड नहीं झेल पा रही क्या?
वो बोली- कुत्ते, तू एक औरत को जब कुतिया बनाकर इतनी तेज तेज चोदेगा तो वो हल्ला करके चिल्लाएगी ही.

मैं जोश में आ गया और तेज़ तेज़ झटके लगाने लगा और बोला- ठीक है साली … छिनाल रंडी चिल्ला … जितना चिल्लाना है.

उसे मैं ताबड़तोड़ चोदने लगा. मैं और तेज़ी से अन्दर-बाहर करने लगा उसकी चूचियां को जोर जोर से दबाने लगा.

उसके गालों पर थप्पड़ मारने लगा- आह और चिल्ला साली रंडी.

मैं उसके बालों को पकड़ कर बेरहमी से चोदने लगा. उसकी गांड और पीठ पर नाखून गड़ाने लगा.

वो ‘ रहम … रहम फरमा.’ चिल्लाती रही और मैं उसे कुतिया बनाकर रंडी के जैसे गपागप गपागप चोदने लगा.

अब मेरा शरीर अकड़ने लगा था. मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ कर झटके लगाने लगा.
उसकी गांड में लंड ने पिचकारी छोड़ दी और गांड से वीर्य बाहर निकलने लगा.

थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल कर शन्नो रंडी के मुंह में डाल दिया. उसने कुतिया की तरह लंड चूसना शुरू कर दिया और लंड साफ कर दिया.

हम दोनों एक-दूसरे से चिपक कर लेट गए और थकावट से नींद आ गई.

शाम को एकदम से नींद खुली तो दोनों नंगे बदन एक दूसरे से लिपटे हुए थे.

सामने घड़ी में 4:50 का समय हो गया था.

मैंने कहा- शन्नो उठ, शाम हो गई … साहिल का आने का वक्त हो गया.
शन्नो ने पास रखी ब्रा और पैंटी पहन ली और बोली- राज, मेरी मैक्सी तेरे पास है … उसे छुपा लेना.

फिर दोनों एक-दूसरे को चूमते हुए बाहर आ गए.

मैं नंगा ही ऊपर आ गया, मेरे कपड़े पलंग पर पड़े थे, मैंने पहन लिए और शन्नो की मैक्सी बैग में रख दी.

उसके बाद साहिल आ गया और हम सब नार्मल होकर रात में खाना खाने लगे.

मैं अपने रूम में आ गया और सेक्स कहानी पढ़कर सो गया.

उसके बाद दोनों दिन में मौका देखकर चुदाई का मज़ा लेने लगे.

एक रात मैंने शन्नो को अपने रूम में बुलाया … वो सेक्स कहानी मैं बाद में बताऊंगा.
हॉट आंट सेक्स कहानी पर मेल और कमेंट्स जरूर करें.
[email protected]

About Abhilasha Bakshi

Check Also

चाची की चुदाई की सच्ची देसी कहानी (Chachi Ki Chudai Ki Desi Sex Story)

दोस्तो, मेरा नाम पवन कुमार है, मेरा लंड 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *