दोस्त की कमसिन बहन की सील तोड़ी

Xxx बुर सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे दोस्त की जवान बहन मेरे घर पढ़ने आने लगी. वह बहुत खूबसूरत और सेक्सी थी. मैं उसके साथ सेक्स करने की चाह रखने लगा था.

दोस्तो, मेरा नाम रौनक है और मैं अलीगढ़ से हूं.
मेरी उम्र 20 वर्ष है.

मैंने अपनी पोस्ट ग्रैजुएशन के लिए कॉलेज में एडमिशन लिया।
कॉलेज में मेरी मुलाकात एक लड़के से हुई जिसका नाम तुषार है.

पढ़ाई की वजह से तुषार मेरा अच्छा दोस्त बन गया और मैं उसके घर भी जाने लगा।
वह मुझसे एक साल छोटा है लेकिन हम अच्छे दोस्त हैं।

तुषार के घर में उसकी दो बहनें और मम्मी पापा हैं।

उसकी छोटी बहन का नाम रिया है जो बहुत ही खूबसूरत है जिसे देख के किसी भी लड़के का लन्ड खड़ा हो जाए.
उसकी उम्र 19 बर्ष है वो अभी ग्रैजुएशन में आई है।

यह Xxx बुर सेक्स कहानी इसी रिया के साथ चुदाई की है.

कॉलेज बंद होने की वजह से उसकी पढ़ाई में दिक्कत आने लगी तो तुषार ने एक दिन मुझसे कहा कि मैं उसे पढ़ाई में हेल्प कर दूं.
तो मैंने कहा कि वो उसे लेकर मेरे घर आ जाए.

रिया एकदम सील पैक लड़की थी और एक अच्छे बदन की मालकिन भी!

मेरे घर में मैं और मम्मी पापा तीन ही लोग हैं.
पापा सिविल सर्विस में हैं और मम्मी कॉलेज मैं प्रोफेसर हैं तो घर में ज्यादातर मैं ही अकेला रहता हूं
शाम को मम्मी पापा घर आते हैं।

मैं अपने एग्जाम की तयारी कर रहा हूं तो मैंने कॉलेज जाना बंद कर दिया है.

मेरे कहने पर तुषार रिया को लेकर मेरे घर आया.
रिया ने काले रंग की पैंट, लाल नीले रंग की टॉप पहन रखी थी.

वह बहुत ही बला की माल लग रही थी.
मैं उसे देखता ही रह गया।

मैंने आंटी को बुलाकर कॉफी बनवाई.
आंटी हमारे घर की नौकरानी है जो सुबह और शाम को घर का काम करने आती हैं.

हम तीनों बात करने लगे.
थोड़ी ही देर में आंटी कॉफी लेकर आ गई.
मैंने उन दोनों को कॉफी सर्व की और खुद भी ली.

फिर हम बात करने लगे.
मैंने उसे उसकी पढ़ाई के बारे में पूछा.
और उसने भी मुझसे काफी कुछ पूछा.

फिर मैंने और रिया ने फोन नंबर एक्सचेंज किए और दूसरे दिन से आने के लिए बोल कर तुषार और रिया चले गए.

यह सोच कर मेरे मन में लड्डू फूटने लगे कि कल से रिया रोज मेरे पास आएगी.
और मैंने बाथरूम में जाकर उसके नाम की मुट्ठ मारी।

अब मुझे दूसरे दिन का इंतजार था.
दूसरे दिन से रिया स्कूटी से आने लगी और मेरा प्लान उसे पटा के चोदना था.

एक दो दिन में ही हम हंसी मजाक करने लगे.

रिया- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?
मैं- नहीं!
रिया- सच मैं नहीं है कि मुझे बताना नहीं चाहते?
मैं- सच्ची मैं नहीं है. तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है?
रिया- कोई नहीं है!

मैं- है नहीं या कोई बनाया नहीं?
रिया मुस्कराती हुई- तुम्हारे जैसा कोई मिला नहीं!

मैं- तो अब बना लो!
कहकर मैंने उसके चहरे को दोनों हाथों से पकड़ा.

यह देखकर वह सीरियस हो गई और मेरी तरफ देखने लगी.
और वो कुछ कहती, उससे पहले ही मैं उसे होटों पर एक स्मूच किस करने लगा और उसने कुछ भी रिएक्शन नहीं किया।

मैंने उसे एक मिनट तक किस किया और किस से हटने के बाद मैंने उससे आई लव यू बोला.

इतने में ही डोरबेल बजी और मैं खड़ा होकर सम्भलकर गेट पर गया.
शाम के 4:10 बज गए थे और मम्मी कॉलेज से आ गई थी.

मैंने डरते हुए गेट खोला।
मेरे मन में डर था कि रिया कहीं मम्मी को न बता दे.

इतने में रिया कमरे से बाहर बैग लेकर आई और अपने घर जाने लगी.
और मैं डर से कांप रहा था, मेरे पेट में पानी हो गया.

इतने में मम्मी ने रिया से पूछा- बेटे कैसी हो? और पढ़ाई कैसी चल रही है?
रिया ने हां में सिर हिलाया और धीरे से ‘ठीक’ कहकर चली गई.

मैं नॉर्मल हुआ और फिर मम्मी से थोड़ी देर बात की.
मुझे डर था कि अब रिया मेरे पास पढ़ने आएगी या नहीं!

अगले दिन जब रिया नहीं आई तो मुझे लगा कि उसने अपने घर कह दिया है.

उसके अगले दिन दोपहर को 1 बजे डोरबेल बजी तो मैं खोलने गया.
सामने देखा तो रिया खड़ी थी.

मैं उसे देखता ही रह गया.
वह इतनी सुंदर लग रही थी कि कोई अप्सरा हो।

उसे देखकर ऐसा लग रहा था कि वह मेरे चुम्बन से खुश थी.
और उसे देखकर मेरे मन में भी लड्डू फूटने लगे.
उसका ऐसा अवतार देख कर मेरा लन्ड मचलने लगा.

मेरे घर पर मेरे सिवा कोई नहीं था.
मैंने रिया को अंदर बुलाया और उसकी स्कूटी भीतर की.

रिया के मुख पर मुस्कान थी तो मैं समझ गया कि लाइन साफ है.

उसे बुला कर मैं भीतर ले गया भीतर जाकर मैंने उससे सॉरी कहा.
इतने में रिया ने मुझे गले से लगा लिया और ‘आई लव यू’ कहा.

मैंने भी उसे गले लगाए रखा और उसके गाल पर किस किया और फिर होटों पर छोटा सा किस किया.

इतने में रिया बोली- आई लव यू … मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं. मैं ही तुम्हें प्रपोज करना चाहती थी इसलिए मैं तुमसे पढ़ने आई थी। आई लव यू सो मच रौनक!

और हम दोनों किस करने लगे.
लगभग पांच मिनट की स्मूच के बाद मैं अपने हाथ रिया के बूब्स पर ले गया और कपड़ों के ऊपर से ही उसके बूब्स मसलने लगा.

उसके मुंह से ‘आअअ … आह’ की कामुक सी आवाज आने लगी.

रिया का फिगर 30 28 30 है।
उसके बूब्स मसलते मसलते मैंने उसका टॉप उतार दिया और उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से मसलने लगा.
उसने काले रंग की ब्रा पहन रखी थी.

उसके 30″ के संगमरमर से बूब्स काली ब्रा में ऐसे कैद थे जैसे कई सालों से कोई कैदी जेल में बंद हो, उसके बूब्स ब्रा से बाहर आने को तरस रहे हों.

और फिर मैं रिया के होटों से किस करते हुए नीचे आया.
उसकी गर्दन पर किस करते हुए और कान के नीचे किस करते हुए मैं उसके बूब्स की तरफ आने लगा.

रिया तो अपने आप को खो ही दी थी, उसकी सांसें बहुत तेज चल रही थी.
मैं उसकी छाती पर किस करते हुए और एक हाथ से उसके एक चूतड़ को मसलते हुए उसके बूब्स की घाटी में किस करने लगा, चूमने चूसने लगा.

इतने में रिया भी मेरी शर्ट को उतारने लगी और मैंने उसके पैंट की बटन खोल दी.

हम फिर से किस करने लगे.

मैं रिया को किस करते हुए गोद में उठा कर अपने बेडरूम में ले गया और उसे बेड पर पटक दिया.
अपना एक हाथ उसकी पेंट में डाल कर मैं उसकी चूत को पेन्टी के ऊपर से मसलने लगा और उसकी ब्रा को नीचे करके उसके बूब्स को चूसने लगा.

मुझे अपने हाथ पर गीलापन महसूस हुआ.
रिया अचानक से ऐंठने लगी और जोर से सांस लेती हुई ‘आ आ ई उउऊआ आउउऊ’ करने लगी.

मैं और कस कर उसकी चूत को मसलने लगा और उसके बूब्स भी चूसने लगा.
इतने मैं ही रिया ऐंठती हुई झड़ गई और तेज तेज सांसें लेने लगी.
मैं भी उसे चूमने लगा.

एक मिनट के बाद हम दोनों फिर से समूच करने लगे.
मैंने रिया की पैंट, ब्रा और पैंटी को अलग कर दिया.

उसकी गुलाबी चूत भीगी हुई मदमस्त महक छोड़ रही थी.

रिया ने भी मेरे सभी कपड़े उतार दिए और हम दोनों बिल्कुल नंगे हो गए.

मैंने रिया को अपना लन्ड चूसने को कहा तो उसने मेरा लन्ड चूसने से मना कर दिया.
पर फिर मेरे बार बार कहने पर वो मान गई और मेरे लन्ड को चूसने लगी.

उसके गुलाबी होंठ मेरे लंड को ऐसे चूस रहे थे कि मैं जन्नत की सैर करने लगा.
और 5 मिनट की लन्ड चुसाई के बाद मैं उसके मुंह में ही झड़ गया.

और झड़ता भी क्यों न … जब कोई परी जैसी लड़की लन्ड को चूस रही हो तो अच्छा अच्छा भी झड़ जाए!

रिया ने मेरे सारे माल को थूक दिया और कपड़े से अपने होंठ और मेरा लंड साफ कर दिया.

फिर हम दोनों एक दूसरे को ताबड़तोड़ किस करने लगे.
मैं एक हाथ से उसके चूतड़ पकड़ कर सहला रहा था और एक हाथ से उसके बूब्स को मसलने लगा.
रिया मेरे लन्ड को मसल रही थी और हम स्मूच किस कर रहे थे.

और थोड़ी ही देर में हम दोनों 69 की पोजिशन में आ गए. मैं उसकी चूत को वो मेरे लन्ड को चूसने लगी.

थोड़ी ही देर में मेरा लन्ड रॉड की तरह कठोर हो गया.
रिया मेरे लन्ड को पकड़ कर अपनी चूत पर घिसने लगी.

वह भी बहुत गर्म हो चुकी थी और मैं भी उसे चोदने को मरा जा रहा था.

इतने में रिया भी कहने लगी- अब मुझे चोद दो रौनक … चोद दो!

मैंने रिया को बेड पर लिटाया और मैं क्रीम लेकर आया क्योंकि रिया की चूत सीलपैक थी, अभी तक उसकी चुदाई नहीं हुई थी.

तब मैंने रिया के पैर फैलाए और उसकी गुलाबी चूत पर क्रीम लगाने लगा.
इतने में रिया कहने लगी- आराम सा करना!

मैंने रिया को हाँ बोलकर उसकी चूत में अंदर तक क्रीम भरी और अपने लन्ड पर भी खूब सारी क्रीम लगाई.

तब मैंने अपने लन्ड को उसकी चूत पर सेट किया और उसकी कमर को टाइट पकड़ा और एक जोर का शॉट दिया.
वह दर्द से तिलमिला उठी- आह्ह मर गई … माँ रीई ईईईई अह्ह्ह ह्ह ऊऊ ऊउईई ईई, प्लीज़ धीरे से रौनक … आआ आअ दर्द हो रहा है!

रिया की चूत में लन्ड घुसते ही उसके मुंह से एक चीख निकल पड़ी और वो बिन पानी की मछली की तरह छटपटाने लगी और अपने आपको छुटाने लगी और लन्ड को पीछे की ओर धकेलने लगी
पर वह नाकामयाब रही.

इतने में ही मैंने उसके होटों पर अपने होठ रख दिए और उसे स्मूच करने लगा.

रिया निढाल पड़ी हुई थी, उसकी आंखों से आंसू निकल आए थे और वह दर्द से कराह रही थी.
उसकी चूत से हमारे प्यार की निशानी खून की बूंदें के रूप में बाहर आ रही थी.

थोड़ी देर तक मैं उसे चूसता रहा.
फिर वह भी मुझे चूसने लगी थी.

मैं उसे थोड़ी देर तक किस करता रहा और उसके बूब्स को मसलता रहा. मैंने उसकी कमर को भी सहलाया.
और जब उसे थोड़ा सा मजा आने लगा तो मैंने दूसरा शॉट मारा और मेरा लन्ड उसकी चूत को फाड़ता हुआ बच्चेदानी तक पहुंच गया.

वह दर्द से छटपटाई और अपनी नाकामयाब सी कोशीश करने लगी.
मैं उसे ताबड़तोड़ किस करने लगा और अपने लन्ड को धीरे धीरे उसकी चूत में पेलने लगा.

Xxx बुर सेक्स करने से वह दर्द से कराह रही थी.

थोड़ी देर बाद उसे भी मजा आने लगा.
उसका दर्द ज्यादा देर तक नहीं टिका और मेरे दर्द भरे धक्के से अब उसे मजा आने लगा।
अब वह मुझे पूरी तरह से सपोर्ट कर रही थी और जोर जोर से चुदवाने के लिए अपनी गांड को हिला रही थी.

उसे सपोर्ट करते हुए देख के मेरा भी जोश दोगुणा हो गया और मैं पूरी तेजी से उसकी चूत बजाने लगा.
चूत चुदाई की आवाजें कमरे में एक मजेदार माहौल बनाने लगी।

रिया सिसक सिसक कर अपनी चूत मरवा रही थी और मेरे लंड कभी अन्दर बाहर ले रही थी.
मुझे भी बहुत मजा आ रहा था

मैं रिया को खाने लगा, इतनी जोर जोर से उसे चोदने लगा कि एक समय लगा कि कहीं उसकी बुर ही ना फट जाए।

मेरे पट पट धक्कों से मेरी गर्लफ्रेंड का पूरा जिस्म काँप गया। उसके चूचे हिलकर थरथराने लगे।
मैं बिजली की तरह उसको पेलने लगा।

तभी मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ।
पर ऐसा नहीं हुआ।

मेरा मोटा सा लौड़ा मेरी दोस्त की बुर में झड़ने का नाम नहीं ले रहा था।

मैं बहुत देर तक रिया को चोदता रहा पर फिर भी नहीं झड़ा।
मैंने लौड़ा झटके से निकाल लिया और उसकी गर्म गर्म जलती चूत को पीने लगा।

वाकई यह एक शानदार अनुभव था।
कुछ देर बाद रिया की चूत ठंडी पड़ गयी थी।

मेरे लौड़े की खाल पीछे को सरक आई थी, गोल गोल मुड़कर मेरे लौड़े की खाल पीछे आ गयी।

मेरा सुपारा अब गहरे गुलाबी रंग का हो गया था। मेरे लौड़े का रूप ही बदल गया था रिया की बुर चोदकर।
अब मेरा लौड़ा किसी बड़े उम्र के आदमी वाला लौड़ा दिख रहा था.

कुछ देर तक अपना लौड़ा देखता रहा, फिर मैंने उसे रिया की छोटी सी चूत में डाल दिया।
फिर से मैं उसे चोदने लगा।

इस बार मैंने बिना रुके उसे कई मिनट तक चोदा क्यूंकि एक बार भी मैं रुकता या आराम करता तो माल उसकी चूत में नहीं गिरता।

अनेक अनगिनत धक्कों के बीच चट चट की मीठी आवाज के साथ मैं रिया की चूत में शहीद हो गया।
उसके बाद हम दोनों लेटकर किस करने लगे और प्यार करने लगे.

रिया बहुत ही खुश थी.

अब वह मेरी प्राइवेट बीवी की तरह है, हम 2 – 3 दिन बाद बार सेक्स करते रहते हैं.

आप लोगों को मेरी यह Xxx बुर सेक्स कहानी कैसी लगी?
इसका रिव्यू आप मुझे नीचे दी हुई मेल पर दे सकते हैं.
[email protected]

About Abhilasha Bakshi

Check Also

ऑफिस की सहकर्मी ने घर बुलाया

Xxx ऑफिस गर्ल चुदाई का मजा मुझे दिया मेरी एक नयी आई सहकर्मी ने! उससे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *