पापा के दोस्त ने मुझे जमकर चोदा (Xxx Uncle Fuck Story)

Xxx अंकल सेक्स स्टोरी में मेरे पापा के दोस्त ने मुझे चुदाई का भरपूर मजा दिया. मैं अपने भाई की शादी में मायके आई हुई थी, वहीं मेरी सेटिंग उन अंकल से हुई.

दोस्तो, आपकी रिया का आप सभी के लंड को मेरी चूत का नमस्कार!

मेरी पिछली सच्ची कहानी
अंकल से सील तुड़वा कर प्रेग्नेंट हो गई
लाखों लोगों ने पसंद किया लाइक किया.
वह कहानी काफी सुपरहिट रही.

आज की कहानी भी एक सच्ची कहानी है जो मेरी खास सहेली ने भेजी है.
उसने मुझे बोला कि तुम इसको अन्तर्वासना पर अपने तरीके से पब्लिश करवा दो.

आगे की Xxx अंकल सेक्स स्टोरी उसी की जुबानी:

मेरा नाम सुमन है. मेरी शादी हुए अभी 1 साल हुआ था.
मैं अपने भाई की शादी में अपने मायके आई हुई थी.

वहां पर काफी काम जोरों शोरों से चल रहा था.
वहीं पर एक 45 साल का आदमी भी काफी आगे बढ़ चढ़कर काम कर था.

फिर मुझे पता चला कि उसका नाम महिपाल है और वह पापा का दोस्त है.

मैंने उस दिन लहंगा पहना हुआ था और दुल्हन की तरह सजी हुई थी.
महिपाल मेरे आगे पीछे ही डोल रहा था और मुझे छूने का कोई मौका नहीं छोड़ रहा था.
मुझे इस खेल में मजा आ रहा था. वह भी मेरी मंशा को समझ रहा था कि मैं उससे चुद जाऊँगी.

फिर मैं टोकरा लेने ऊपर फर्स्ट फ्लोर पर गई तो मेरे पीछे पीछे भी महिपाल आ गया और कमरे में आकर मुझे अपनी बाहों में दबोच कर अपने होंठ मेरे होंठों पर लगाकर मेरे होंठ चूसने लगा.

मैंने भी ज्यादा विरोध नहीं किया और किस करने पर उसको सहयोग करने लगी.

तभी किसी के आने की आहट हुई तो हम दोनों अलग हो गए और नीचे आकर और किसी काम में हाथ बंटाने लगे.

शादी के काम से निपट कर मैं अपनी ससुराल आ गई.

सात आठ महीने बाद पापा का फोन आया कि वो अपने दोस्त महिपाल के हाथ कुछ सामान भेज रहे हैं मेरे लिए. उसको उधर ही कुछ काम है तो वह तुम्हारा सामान लेते आएगा.

2 दिन बाद ही महिपाल सामान लेकर आ गया और उस दौरान मेरे पति अमित 1 दिन पहले ही ऑफिस के काम से 1 सप्ताह के लिए बाहर टूर पर गये थे.

महिपाल ने आते ही मुझे अपनी बाहों में लेकर एक लंबा चुम्बन लिया.
मैं उसकी गिरफ्त से आजाद होने के लिए बोली- मैं तुम्हारे लिए चाय पानी का इंतजाम करती हूं.

लेकिन महिपाल ने अपनी मजबूत बाहों में मुझे जकड़ कर मेरे होंठ से होंठ मिलाकर चूसने लगा और एक हाथ से मेरे चूतड़ दबाने लगा.
इस दौरान उसकी बाहों की जकड़ में मेरा शरीर ढीला पड़ने लगा और मैं उसको सहयोग करने लगी.

तब महिपाल मुझे अपनी गोद में उठाकर बेडरूम में ले आया और मुझे बेड पर लेटा कर मेरे ऊपर छा गया.

महिपाल कभी मेरे होंठ चूसता और कभी मेरे चूची मसलता.

उसने जल्दी ही मेरे कपड़े उतार कर मुझे पूरी नंगी कर दिया और अपने कपड़े भी उतार कर मेरे ऊपर आ गया.

मैं महिपाल के नीचे पूरी नंगी थी और मेरे ऊपर महिपाल पूरा नंगा!
महिपाल मेरा एक चूचा अपने मुंह पर लेकर चूस रहा था और और दूसरे चूचे को हाथ से दबा रहा था.

फिर हम जल्दी ही 69 पोज में आ गए.

महिपाल का लंबा मोटा लंड पूरा अपने उफान पर था, उसका लंड करीब करीब 6.5 इंच लंबा मोटा था.
जैसे-जैसे मैं महिपाल का लंड चूस रही थी, महिपाल का लंड और लंबा मोटा होता जा रहा था. मेरे मुंह में महिपाल का लंड बड़ी मुश्किल से जा रहा था,

महिपाल ने मेरी चूत को अपने मुंह से चाट कर काफी पानी निकाल दिया था और मैं अपनी गांड ऊपर उछाल उछाल कर मेरे मुंह से मस्ती भरी सिसकारियां निकल रही थी- आह हहह सीईई ईईई … उहह हहह … ममम … सीई ईईई ऊईईई ईईई ममम … नह हहह हम्म मम्म … मम्मी ईई ऊईई ईईई!

महिपाल का लंबा मोटा लंड देखकर मुझे डर भी लग रहा था क्योंकि मेरे पति अमित का लंड 5 इंची था और पतला था. वे मेरी चूत भी ठीक-ठाक ही चोद लेते थे लेकिन कभी मेरी गांड नहीं मार पाए. हालांकि उन्होंने काफी कोशिश की लेकिन उनका लिंग ढीला पड़ जाता था.

तभी महिपाल ने अपना लंड मेरी चूत के मुंह पर सटाकर जोरदार धक्का मारा.
और महिपाल का लंबा मोटा लंड सुपारा सहित मेरी चूत में घुस गया.

मेरी एक दर्द भरी लंबी सिसकारी निकल गई- ऊईई ईईई माहह … मरर गई … मां उई उई, उई उई, आह सीईईई ईईई!

महिपाल ने बिना कोई मौका चूके काफी ताकत से धक्के मारकर अपना पूरा कड़क लोहे जैसा सख़्त लंड मेरी चूत में जड़ तक फंसा दिया.

इस दौरान महिपाल का लंड सीधा मेरी चूत में बच्चेदानी में घुसा- उहह मम्मी ईईई … ऊई ईईईई मम्मी ईईई … ऊईई ईई मम नहह … ममम!

महिपाल अब काफी ताकत से जोर-जोर से मेरी चुदाई कर रहा था, वह अपना पूरा लंड चूत से निकाल निकाल कर पूरा लंड पेल रहा था.
मैं उसके हर धक्के पर उछल रही थी.

महिपाल का लंड काफी कड़क और मजबूत मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरी चूत में लोहे की रॉड अंदर बाहर हो रही है महिपाल के लंड ने मेरी चूत की मांसपेशियां और दीवारों को हिला कर रख दिया,

मेरी चूत से फच फच फच की आवाज आ रही थी.

अचानक मेरा शरीर अकड़ने लगा और मेरी चूत ने ढेर सारा पानी छोड़ दिया.
अब मैं महिपाल को पूरा सहयोग कर रही थी और अपनी बाहों का हार बनाकर मैंने महिपाल के गले में डाल दिया.

तभी उसने मेरी दोनों टांगें उठाकर अपने कंधों पर रख ली और मुझे जोर जोर से चोदने लगा.
पूरे कमरे में मेरी दर्द भरी, मस्ती भरी सिसकारियां गूंज रही थी और महिपाल की मेरी जांघों से टकराकर पट पट पट पट की आवाज कर रही थी.

उसका लंड हर धक्के पर मेरी बच्चेदानी में जा रहा था. वह काफी ताकत से मेरी चुदाई कर रहा था.
मेरी ऐसी चुदाई कभी मेरे पति ने नहीं की थी.

महिपाल पलटी देकर मुझे अपने ऊपर ले आया और मैं उसके लंड पर बैठकर कूद रही थी ऊपर नीचे!
इस दौरान उसका लंड मेरी चूत में काफी अंदर तक जा रहा था.

फिर उसने मुझे घोड़ी बनाकर पीछे से अपना लंड मेरी चूत में भेज दिया जिससे मैं उसके आगे को गिर गई और मेरा मुंह बेड के गद्दे में धंस गया.
लेकिन महिपाल अपना लंड जोर-जोर से मेरी चूत में पेल रहा था.

फिर उसने मुझे अपने नीचे ले लिया और मेरी दोनों टांगे उठा कर फिर से अपने कंधों पर रख ली.
और फिर पूरा लंड निकाल निकाल कर जोर जोर से धक्के लगा कर मेरी चूत का कचूमर निकालने लगा.

मैं भी नीचे से अपने चूतड़ों को उठा उठा कर महिपाल को सहयोग करने लगी.

काफी देर बाद मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया और साथ के साथ उसी दौरान महिपाल के लंड ने भी ढेर सारा गर्म गर्म वीर्य मेरी चूत में उड़ेल दिया.

इसी हालत में मैं उसके नीचे काफी देर तक नंगी लेटी रही, महिपाल काफी देर तक मेरे ऊपर लेटा रहा.

धीरे-धीरे उसका लंड मेरी चूत से निकल गया.
मैंने उठकर देखा तो बेडशीट की चादर पर महिपाल का वीर्य और मेरी चूत का पानी और थोड़ा सा लालपन जैसे हल्का सा खून हो मिक्स होकर बेड की चादर पर गिर पड़ा.

तब हम दोनों बाथरूम में गए, महिपाल ने मेरी चूत को साफ किया और मैंने महिपाल के लंड को अच्छे से साफ करके अपने होंठों से उसके लौड़े के सुपारे पर एक किस किया.

फिर महिपाल मार्केट में घूमने और सामान लेने चला गया और मैं किचन में खाना बनाने में लग गई.

शाम को जब वह मार्केट से आया तो उसके हाथ में कुछ खाने पीने का सामान था और एक रम की दारू की बोतल थी.

खाना खाने के बाद मैं बाथरूम में जाकर नहा ली और अपनी चूत के छोटे छोटे बालों को भी वीट क्रीम लगाकर साफ कर लिए.
तब महिपाल मेरे बेडरूम में बैठकर दारू पी रहा था.

मैं बाथरूम से बिना कपड़ों के ही निकल कर नंगी बेडरूम में आ गई.

मुझे देखकर महिपाल ने मुझे खींचकर अपनी गोद में ले लिया और दारू का गिलास मेरे होंठों पर लगाकर मेरे को पिला दी.

धीरे-धीरे दारू मेरे दिमाग में छा गई और महिपाल ने एक पेग और मुझे पिला दिया और फिर मुझे अपनी बाहों में लेकर बेड पर लेट गया.

मैंने भी अपने हाथों से महिपाल का अंडरवियर निकाल दिया और बनियान भी निकाल दिया इस तरह मैं उसको पूरा नंगा करके उसका लंड अपने होंठों पर लगाकर किस करने लगी.

उसने मेरे चूतड़ को पकड़कर अपने मुंह की तरफ कर लिया इस तरह हम 69 फोज में आ गए.

महिपाल अपनी जीभ से मेरी चूत को कुरेद रहा था,मेरी चूत के अंदर तक गहराई तक अपनी जीभ डाल रहा था.
जिस कारण मैं बार-बार अपने चूतड़ को उछाल रही थी और दबा रही थी उसके मुंह पर!

उसका लंड काफी मोटा लंबा होकर मेरे गले के अंदर तक घुस कर जा रहा था जिसको मैं अच्छे से चूस रही थी और मेरे मुंह से घुं घु की आवाज आ रही थी.

तभी महिपाल ने मुझे पलटी देकर अपने नीचे ले आया और मेरी टांगें चौड़ी कर कर घुटनों के बल बैठकर अपना लंड मेरी चूत के मुंह पर लगा दिया और मेरी दोनों टांगें अपनी बाजू में उलझा कर एक तगड़ा धक्का लगा दिया.
जिससे महिपाल का आधा लंड मेरी चूत के अंदर तक घुस गया.

तभी मेरे मुंह से एक लंबी सिसकारी निकल गई- ऊईई ईईई ममाह हहह … मर गई … हुम्म माँ!

उसने दूसरा तथा काफी ताकत से धक्का लगाकर जड़ तक अपना फौलादी लंड मेरी चूत की गहराई में घुसा दिया.
अब सिर्फ महिपाल के मोटे मोटे आंड मेरी चूत के बाहर थे.

वह अपना पूरा लंड खींचकर फिर पूरी ताकत से मेरी चूत में धक्का लगाकर लंड पेलने लगा और मैं हर धक्के पर उछलने लगी- अईई ईईई ऊई ममा नहीं हहह … हम्म … मम्मी ईईई ऊईई ईईई!

कमरे में मेरी जोर-जोर से सिसकारियां गूंज रही थी और लंड मेरी चूत में जोर जोर से आवागमन कर रहा था, उसकी फच फच फच फच की आवाज आ रही थी.

मेरी दोनों टांगें महिपाल की बाजू में उलझ कर जोर-जोर से हिल रही थी.
वह काफी ताकत अपना लंड मेरी चूत में जोर जोर से पेल रहा था.

अगर मेरी सुहागरात ऐसे ही मनती तो बात ही कुछ और थी!
महिपाल उमर में मेरे से 25 साल बड़ा था.

वह 45 साल की उम्र का होकर भी मुझे काफी ताकत से चोद रहा था. वह चुदाई का काफी तजुर्बे दार था और अपने तजुर्बे से मुझे हर प्रकार से चोद रहा था.

मैं महिपाल के लंड की दीवानी हो गई क्योंकि ऐसी चुदाई कभी भी मेरे पति ने नहीं की थी.

महिपाल ने अचानक मेरी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रख लिया जिससे मेरे दोनों पैर मेरे सर के पास आ गए और मुझे महिपाल ने अपनी बाहों में जकड़ कर अपना फौलादी लंड जोर-जोर से मेरी चूत में धक्के मार कर पेलने लगा.

मैं भी अपने चूतड़ ऊपर उछाल उछाल कर महिपाल को सहयोग कर रही थी. जिस कारण कमरे में मेरी चूत और मेरी जांघें महिपाल के लंड और उसकी जांघों से टकराकर जोर-जोर से फच फच पट पट पट पट की आवाजें कमरे में गूंज रही थी.

काफी देर महिपाल ने मेरी चुदाई करने के बाद मेरा गाल अपने मुंह में भर लिया और मेरे गाल को चूसने लगा.

मुझे भी अपना गाल चुसवाने में काफी मजा आ रहा था. लेकिन मैंने महिपाल को बोला- मेरे मुंह पर निशान पड़ जाएंगे!

लेकिन महिपाल पर इसका कोई असर नहीं हुआ वह बारी-बारी से मेरे दोनों गालों चूस कर अपना लंड मेरी चूत में पेलता जा रहा था.

महिपाल ने मेरी ऐसी हालत कर दी कि मैं कुछ सोच नहीं पा रही थी, बस मैं अपनी गांड को उछाल उछाल कर महिपाल का लंड अपनी चूत में लिए जा रही थी.

तभी मेरा शरीर अकड़ने लगा और मैंने महिपाल को अपनी बाहों में जकड़ लिया.
वह भी समझ गया और वह भी जोर-जोर से धक्के लगाने लगा.

इस तरह मेरा चूत का पानी निकला और महिपाल के लंड ने गर्म गर्म वीर्य मेरी चूत में लबालब भरना शुरू कर दिया.
मैंने भी मस्ती में आकर उसके होंठों पर काट लिया.

उस रात उसने तीन बार मेरी चूत मारी और 2 बार मेरी गांड मारी.
महिपाल का कड़क लंड मेरी तंग छल्लेदार गांड में भी अंदर तक पूरा घुसा दिया था.

ऐसा कभी मेरे पति से नहीं हुआ, मेरे पति ने जब भी मेरी गांड मारने की कोशिश की तो उनका लिंग हमेशा ढीला पड़ जाता और कभी भी वे मेरी गांड नहीं मार पाए.
लेकिन मेरी गांड का उद्घाटन महिपाल ने अपने कड़क लंड से किया.

महिपाल 5 दिन मेरे पास रुका और इन 5 दिनों में महिपाल ने रात दिन मेरी जमकर चुदाई की जिससे मेरी चूत सुज कर डबल रोटी की तरह हो गई और मेरी टाइट गांड का भी मुंह खुल गया.

5 दिन तक मुझे चोदने के बाद जब वह जाने लगा तो उसने मुझे अपनी बाहों में भर कर मेरे होंठों पर एक लंबा किस दिया.
मैंने भी अपनी बाहों का हार उसके गले में डाल कर अपने गुलाबी रस भरे होंठों का रसपान कराया.

फिर महिपाल के जाने के बाद मैंने बेडरूम की और घर की साफ सफाई की और बेड की चादर बदल दी.

बाद में मुझे पता चला मैं महिपाल के लंड से प्रेगनेंट हो गई.
मैंने यह बात महिपाल को फोन करके बताई कि आप 45 साल की उम्र में पापा बनने वाले हैं मैं आपके बच्चे की मां बनने वाली हूं.

लेकिन मैंने महिपाल को बता कर बच्चा गिराने वाली टेबलेट खा ली और बच्चा गिरा दिया.

अब मैं जब भी मायके जाती हूँ तो महिपाल से जरूर चुदाई कराती हूँ. महिपाल भी कभी होटल में तो कभी किसी दोस्त के कमरे में मुझे ताबड़तोड़ जमकर चोदता है.

महिपाल भी मेरे से फोन पर पूछ लेता और जब मौका मिलता तो मेरे घर आकर मेरी जमकर चुदाई करता है.

हालांकि महिपाल मेरे पापा की उम्र का था लेकिन वह मेरे को ऐसे चोदता कि मैं Xxx अंकल सेक्स की दीवानी होती चली गई.

आज तक यह बात मेरे पति को भी नहीं मालूम और महिपाल की बीवी को भी नहीं मालूम!

दोस्तो, यह एक सच्ची कहानी थी जो सुमन ने मुझे भेजी थी.
आपको कैसी लगी यह Xxx अंकल सेक्स स्टोरी?
कमेंट्स में बताएं.
आपकी रिया सिंह
[email protected]

About Abhilasha Bakshi

Check Also

प्यासी विधवा आंटी की चुत चुदाई करके मजा दिया (Pyasi Vidhwa Aunty Ki Chut Chudai Karke Maja Diya)

दोस्तो, कैसे हो.. आप सबको मेरा प्रणाम.. मेरा नाम सन्नी है.. मैं गुजरात का रहने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *