पोर्न स्टार निकली ट्रेन वाली लड़की

पोर्न स्टार Xxx कहानी में पढ़ें कि मुझे ट्रेन में एक लड़की मिली जो ब्लू फिल्मों में काम करती थी. उससे मैंने दोस्ती कर ली और चुदाई का रेट भी तय कर लिया.

मैं पोर्न वीडियो बहुत देखता हूं. मैंने तीन लड़कियों को चोदा भी है.

यह तब की घटना है जब मैं नैनीताल से वापस आ रहा था.
कुछ देर बाद ट्रेन में एक लड़की चढ़ी.
मैंने उसे देखा तो लगा कि इस लौंडिया को कहीं देखा है.
मुझे याद नहीं आ रहा था कि मैंने उसे कहां देखा था.

वह लड़की मेरे सामने बैठ गई.
वह च्युंगम चबा रही थी और देखने में बिल्कुल बिंदास लड़की लग रही थी.

यह पोर्न स्टार Xxx कहानी इसी लड़की की है.

उसकी निगाहें एक बार मुझसे मिलीं तो मैं अपने होंठों पर मुस्कान लाया ताकि वह यदि मुझे पहचानती होगी तो जवाब देगी.
मगर उसने एक बार देख कर मुंह बनाते हुए नजरें फेर लीं.

कुछ देर बाद जब टीटीई टिकट चैक करने आया तो उसने बड़े स्टाइल से बिना उसे देखे टिकट थमा दिया.
टीटीई ने ठिठोली की- क्या यही आपकी सीट है?

तो उसने गुस्से से मुँह बनाया और खिड़की से बाहर झांकने लगी.
उसने बड़बड़ करते हुए कहा कि जाने कैसे कैसे लोग टीटीई बन जाते हैं.

ये सुनकर टीटीई का मुँह देखने लायक था.
उसकी इस अदा से मुझे उस लड़की से प्यार हो गया था लेकिन मेरी उससे बात करने की हिम्मत नहीं हुई.

अब आप भी उसकी खूबसूरती सुन लो.
वह 19 साल की सुन्दर, छाती पर दो छोटे छोटे उभार, भरा हुआ चेहरा, हाथों की हरी नसें साफ दिखती थीं. दांत छोटे पर किनारे के ऊपर वाले दो दांत नुकीले, बिल्कुल किसी बिल्ली की तरह. उसके नितम्ब आंटियों की तरह बड़े बड़े नहीं थे, बल्कि पतले लड़कों की तरह छोटे और भरे हुए थे.

मैं उसे देखता रहा.
एकाएक मैं उसे देखते हुए मोबाइल पर पोर्न देखने लगा.

उसमें एक लड़की अपनी टांगें उठाए लंड ले रही थी.
मैंने पहले तो उस लड़की के चेहरे पर ध्यान नहीं दिया मगर जैसे ही उसकी आह की आवाज निकली, मेरा ध्यान उस लड़की की चुत से हट कर उसके चेहरे पर चला गया.
अरे … ये लड़की तो पोर्न वीडियो बनाती थी.

मुझे यकीन नहीं हुआ, मैं अब उस लड़की की तरफ फिर से देखने लगा.

कुछ देर बाद उस लड़की की नजरें मेरी नजरों से मिलीं, तो मैंने अपने मोबाईल की झलक उसे दिखा दी.
उसने मोबाईल की स्क्रीन पर खुद की ब्लू-फिल्म चलती देखी तो वह जरा असहज हो गई मगर कुछ ही पलों बाद वह मुझे देख कर मुस्कुराने लगी.

अब मैंने उसे आँख मार दी, तो उसने भी मुझे देखते हुए अपनी आँख दबा दी.
मैं समझ गया कि लौंडिया मुझसे सैट होने को राजी है.

मैंने उसे इशारा किया कि बाहर गेट के पास चलते हैं.
मैं उठा और ट्रेन के दरवाजे के पास आकर खड़ा हो गया.
कुछ पल बाद वह भी आ गई.

मैंने उससे हैलो कहा.
उसने भी हाय बोला.

मैंने उसकी तरफ अपना हाथ बढ़ा दिया, तो उसने मेरे हाथ में अपना हाथ दे दिया.
मैंने अपना नाम बताते हुए कहा- तुम बहुत हॉट हो.

वह मुस्कुराई और कहने लगी- क्यों पिघल गए क्या?
मैंने कहा- हां अन्दर से हॉट होने लगा हूँ मगर पिघलने में मुझे काफी देर लगती है.

वह बोली- न पिघलने की गोली लेते होगे!
मैंने कहा- गोली ले लूँगा तो शायद एक घंटा तक सवारी करूंगा.

वह हंस दी और बोली- बिना गोली के कितनी देर तक चलोगे?
मैंने कहा- चालीस मिनट तक दौड़ सकता हूँ.

वह बोली- और नहीं दौड़ पाए तो?
मैंने कहा- तो काट कर फैंक दूँगा.

वह हंस कर बोली- क्या काट कर फैंक दोगे?
मैंने कहा- अपना हथियार.

वह अपने पर्स से सिगरेट निकालती हुई बोली- आदमी मतलब के लगते हो.
मैंने उसके हाथ से सिगरेट लेकर सुलगाते हुए कश खींचा और सिगरेट उसकी तरफ बढ़ाते हुए कहा- लो, अब अपनी भी फूँक लो!

वह बोली- मेरी तो फुँकी हुई है.
मैंने कहा- अभी सही मर्द नहीं मिला है शायद … मेरे जैसा कोई मिलेगा तो भर भर कर आँसू टपकाओगी.

वह जोर से हंस कर बोली- फ्री का मजा लेना चाहते हो क्या?
मैंने संजीदा होकर कहा- पैसे से बड़ा प्यार लगता है?

वह बोली- बिना पैसे के दुनिया नहीं चलती है मिस्टर!
मैंने कहा- बताओ तुम्हारा रेट क्या है?

इस पर वह सिगरेट को मसल कर आँख दबाकर बाथरूम में चली गई.
कुछ देर बाद वह बाथरूम से निकली और बिना मेरी तरफ देखे अपनी सीट की तरफ चली गई.

फिर उससे मेरी कोई बात नहीं हुई.
जब वह स्टेशन पर उतरने लगी, तो मैंने पूछ ही लिया कि एक रात का कितना पैसा लोगी?

वह मेरी तरफ देख कर मुस्कुरा दी.

दोस्तो, आगे की कहानी सुनोगे तो तीन बार लंड से पानी निकल जाएगा.

वह बोली- केवल 3000 रुपए.
मैंने कहा- ठीक है. चलो किसी होटल में चलते हैं.

अब फिजूल की बातें छोड़कर सीधा चुदाई का हाल सुनाता हूं.
जैसे ही हम दोनों होटल के कमरे में पहुँचे, मैं उसके ऊपर लेट गया.

उसके दूध कड़े होने लगे.
मुझे समझ नहीं आ रहा था कि उसे चूमूँ या फिर उसकी चूत में लंड पेल दूं!

मैं उसकी टांगें फैलाकर उसके ऊपर लेट गया और जोर जोर से पागलों की तरह झटके मारने लगा.

वह बोली- अरे कपड़े तो उतारो!
मैंने कपड़े उतारे.

अब वह भी बिल्कुल नंगी थी.
मैं उसके ऊपर लेट गया और लंड चूत में डालने लगा लेकिन लंड अन्दर नहीं जा रहा था.

फिर मैंने जोर से लंड डाला तो वह दर्द से चिल्ला दी.
मुझे भी लंड में दर्द उठ गया था.

वह बोली- अनाड़ी लगते हो, अभी मेरी चूत बिल्कुल सूखी है. लंड अन्दर कैसे जाएगा. पहले मुझे गर्म करो.
मैं उसे चूमने लगा.

वह पोर्नस्टार बड़ी गंदी थी.
उसने अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी और मेरे दांतों में रगड़ने लगी.

मैं तो मानो स्वर्ग में था.

अब मैंने उसके मुँह में लौड़ा डाला, वह काफी जोर से लंड चूस रही थी.
कभी कभी उसके नुकीले दांत मेरे लंड पर रगड़ जाते थे तो दर्द होता था, पर वह मीठा दर्द था.

मैं उसका सर पकड़ कर उसके मुँह में लंड डालने लगा. मैं अपनी कमर को इधर उधर नचा रहा था जिससे उसके मुँह के कोने कोने में मेरा लंड रगड़ रहा था.
कभी उसकी दाढ़ों पर लंड रगड़ जाता था और मैं मजे से आह आह करने लगता था.

फिर वह मेरे लंड को चूसने लगी.
वह अपनी जीभ को कड़ा करके मेरे लंड के टोपे पर जीभ को नचा रही थी.

मैं झड़ने वाला था पर मैंने अपना लंड निकाल लिया.
मैंने उसकी चूत में उंगली डाली, वह अपनी चूत की मांस पेशियों को फैला और सिकोड़ रही थी.
उसकी चूत गीली हो चुकी थी लेकिन मैंने उसकी चूत में कपड़ा डालकर सुखा दिया और उसकी चूत को पसार कर फूंक मारी ताकि चूत सूख जाए.

अब मैंने उसकी सूखी चूत में लौड़ा डाला … तो बड़ी मुश्किल से गया.
थोड़ी ही देर में चूत फिर से गीली हो गई और लंड फिसल कर घुसने लगा.

अब मैं नीचे लेट गया और वह ऊपर थी, वह मुझे चोद रही थी.
अब उसने मेरी दोनों टांगें फैलाईं और अपनी दोनों टांगें मेरी टांगों के बीच सटाकर चोदने लगी.

चूत का घर्षण साफ महसूस हो रहा था.
अब मैं चूत में लंड डालकर उसके ऊपर लेट गया और झटका लगाना बंद कर दिया.

मेरा लौड़ा उसके अन्दर था, जब मैं उसके होंठ चूमता था तो उसकी चूत उत्तेजना से सिकुड़ जाती थी.
मेरा लंड भी ढीला और कड़ा हो रहा था.

उसने दोनों हाथ मेरे चूतड़ों पर रख दिए और मैं अपना वीर्य बड़ी मुश्किल से रोक रहा था.

वह मेरे चूतड़ों को जोर से मसल रही थी.
मैं धीरे धीरे झटके मारता और जब वीर्य निकलने वाला होता तो रुक जाता.

हम दोनों के गाल लाल हो गए थे.
अब इंतजार नहीं हो रहा था.
मैंने धीरे धीरे करीब 15 झटके मारे और वीर्य निकलने ही वाला था, उसी वक्त मैं एकदम से रुक गया.
उससे वह एक पल को चौंकी मगर अगले ही पल उसने अचानक से मेरे होंठों को अपने होंठों में कैद किया और जोर जोर से चूसने लगी.

उसी के साथ उसकी चूत बहुत कड़ी होने लगी, मानो वह मेरे लंड को काट लेना चाहती हो.
मुझे लंड पर दबाव महसूस होने लगा.

वह झड़ रही थी.
उसकी चुत की गर्मी से अब मैं भी अपने आपे से बाहर हो गया.

मैं पूरी ताकत उसे जकड़ा और झटका मारने लगा.
मेरा लंड उसकी चूत के अन्दर मुड़ सा गया था. उसके होंठों ने मेरे होंठों पर से अपनी पकड़ ढीली कर दी थी.

अपनी जीभ मैंने उसके मुँह में डाल दी और उसी समय मेरे लंड से वीर्य की पहली पिचकारी उसके अन्दर चली.
मैंने फिर से झटका मारा, तो उसकी चूत सिकुड़ गई और उसने अपनी दोनों टांगों से मुझे जोर से दबा लिया.

मेरी दूसरी पिचकारी निकली और इसी तरह करीब एक मिनट तक हम दोनों स्खलित होते रहे.
मैं दो मिनट तक उसके ऊपर लेटा रहा.

फिर उसने कहा कि मुझे पेशाब करने जाना है.
हम दोनों साथ में बाथरूम गए.

वह मेरे सामने ही खड़ी होकर मूतने लगी.
मैंने झट से उसकी चूत के आगे अपना लौड़ा लगा दिया.

उसकी गर्म मूत की धार ने मेरा लंड फिर से खड़ा कर दिया.
रह रह कर उसकी चुत मेरे लवड़े पर अपनी मूत की धार मार रही थी, जिससे मेरे लंड में तनाव आने लगा और उसने अपना फन फैलाना शुरू कर दिया.

वह मूतने के बाद अपनी चूत को सिकोड़ने लगी जिससे बचा खुचा मूत भी बाहर आ जाए.

तभी अचानक से मेरा वीर्य उसकी चूत से बह निकला जो मैंने उसकी चूत में भरा था.

इतना सारा वीर्य टपकता देख कर मैं हैरान था.
वह लड़की अपनी चूत से वीर्य गिराती हुई बहुत खूबसूरत लग रही थी.

उसकी कई झांटें टूट कर मेरे पेट पर चिपक गई थीं.

फिर मैं लंड धोकर कमरे में चला गया और जाकर बेड पर लेट गया.
इतने में उस लड़की की सहेली का फोन आया.
वह कपड़े पहन कर बालकनी में चली गई.

पांच मिनट बाद वह वापस आई, तो मुझसे बोली- क्या तुम मेरी मदद करोगे?
मैंने पूछा- कैसी मदद?

तो वह बोली- आज मुझे प्रोडक्शन वालों को एक पोर्न स्टार Xxx वीडियो किसी भी हाल में देनी है. अगर तुम चाहो … तो कैमरे के सामने मुझे चोद लो और अगर तुम ऐसा करोगे … तो मैं तुमसे तीन हजार रुपए भी नहीं लूँगी.
मैंने कहा- ठीक है, मैं तैयार हूँ.

फिर उसने अपनी सहेली को फोन लगाया और उसे एड्रेस बता दिया और चाय का आर्डर दे दिया.
पांच मिनट में चाय आ गई.

वह कुर्सी पर बैठी चाय पी रही थी. मुझे वह बहुत खूबसूरत लग रही थी.
चुदाई की वजह से उसके बाल उलझ गए थे और उसकी आंखों का काजल उसके गोरे गालों पर आ गया था.
सच में वह बहुत खूबसूरत लग रही थी.

मैंने उससे पूछा- तुम यदि पोर्न में काम करती हो, तो तुम्हारी चूत इतनी कसी कैसे है?
इस पर वह हंसी और बोली- मैं रोज कीगल एक्सरसाईज करती हूँ.

कुछ देर तक मेरी उससे यूं ही बातें होती रहीं. फिर उसकी सहेली आ गई.
आगे की सेक्स कहानी फिर कभी!
आपको ये पोर्न स्टार Xxx कहानी कैसी लगी … प्लीज कमेंट्स करें और मेल से बताएं.
[email protected] धन्यवाद.

About Abhilasha Bakshi

Check Also

भाई के बॉस के लड़के से चुद गयी मैं

टीन वर्जिन बुर Xxx कहानी में मेरा भाई जॉब करता था और मैं पढ़ती थी. …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *