मुंहबोली भानजी को बेदर्दी से चोदा

हॉट वर्जिन गर्ल Xxx कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे पड़ोस में रहने वाली कमसिन लड़की जो मुझे मामा कहती थी, मेरे पीछे पड़ गयी और मुझसे चूत गांड चुदवा कर मानी.

दोस्तो, मेरा नाम राहुल है. मैं गुजरात का रहने वाला हूँ. मेरी हाईट 5 फुट 4 इंच है.
यह हॉट वर्जिन गर्ल Xxx कहानी दो साल पुरानी है.

मेरे पड़ोस में एक कपल रहता था. तब मैं छोटा था. उस वक्त उस कपल को एक लड़की हुई. उसका नेम सेजल रखा गया. मैं उसे गोद में खिलाता.
उसकी मां ने मुझे भाई बनाया था, इस लिए उसकी बेटी मेरी भानजी हो गई थी. हम पास पास ही रहते थे.

सेजल मेरी गोदी में खेलती हुई बड़ी होने लगी. फिर समय बदला. मैं पढ़ाई के लिए शहर चला गया.
धीरे धीरे साल बीतते गए और सेजल बड़ी होती गई.

मैं अब 25 साल का हो गया था.
मैं सेजल से छह साल बड़ा था. वो उन्नीस साल की भरपूर जवान हो गई थी.

अब मेरी जॉब लगने वाली थी. एक गांव में नौकरी लग जाने के कारण मैं उधर ही रहने लगा था.

मैं शहर से उसके लिए कपड़े भी लाया करता.
वो मुझे मामा कहा करती.

एक दिन मेरे व्हाट्सएप में उसने किस करने वाला इमोजी भेजा.
मैंने पूछा- ये क्या है?
उसने आई लव यू लिखा.
मैं चौंक गया कि ये क्या लिख रही है.

फिर जब मैं उससे मिला, तो मैंने उससे कहा- ये सब क्या लिखा था तुमने?
वो बिंदास बोली- मुझे आप अच्छे लगते हैं.

मैंने कहा- मैं तुम्हारा मामा हूँ!
वो बोली- हां मालूम है कि मामा हो … लेकिन सगे नहीं हो.

मैंने उसको बहुत समझाया लेकिन वो नहीं मानी और मुझसे कहने लगी- मैं मर जाऊंगी … लेकिन सिर्फ आपसे ही प्यार करती हूँ और करती रहूँगी.
तब मैंने सोचा कि ये अभी जवानी के जोश में है, अभी इसकी समझ में कुछ नहीं आएगा; बाद मैं समझाऊंगा.

मैं उसके पास से चला गया.
वह मुझे लगातार फोन पर लव लव लिखने लगी और मुझे अडल्ट जोक भी भेजने लगी.

मैंने उसे ब्लॉक कर देने की बात भी कही तो उसने उसी वक्त लिख दिया- यदि आपने ऐसा किया, तो मुझे मरा हुआ पाओगे.
अब मैं उसे ब्लॉक भी नहीं कर सकता था.

हालत ये हो गई थी कि वो जब भी मुझसे मिलती, मुझको लाइन मारती.

फिर मेरी जॉब लग चुकी थी, इसलिए मैं दूसरे शहर चला गया.
अब हमारी बात सिर्फ व्हाट्सएप पर होती थी.

चार महीने निकल गए थे.
एक दिन उसके पापा का कॉल आया कि सेजल की परीक्षा है और मैं उसके साथ नहीं आ पा रहा हूँ क्योंकि मुझको बहुत ज्यादा काम है. इसलिए सेजल को तुम्हारे साथ रुकने भेज रहा हूँ. उसे तुम्हारे रूम 15 दिन रहना है, तुम उसका ख्याल रखना.

मैंने मना किया कि मेरा रूम ऐसा है कि सेजल यहां नहीं रह पाएगी, उसको किसी होटल या किसी और जगह रुकने के लिए बोलो.
लेकिन उसी समय सेजल जो कि अपने पापा के साथ ही थी, ने कहा- अरे मामा, मैं आपके साथ नहीं रहूँगी तो किसके साथ रहूँगी?

उसके पापा ने भी मुझसे बहुत आग्रह किया तो मैं मना नहीं कर पाया.

सेजल के पापा उसको छोड़ने आए और बस छोड़ कर जल्दी जल्दी कुछ बात किए बिना ही वापस चले गए.
बस ये बोले- मुझे बहुत काम है, अब मैं निकल रहा हूँ.

उनके जाने के बाद सेजल ने अंगड़ाई ली और मुझे देख कर आँख दबा दी.
वह बहुत खुश थी.

मैं प्रारब्ध को समझने का प्रयास कर रहा था कि ये सब क्या हो रहा है मेरे साथ.
फिर मैंने सेजल से सामान्य बात करना शुरू की.

वह मेरे लिए एक लेटर लाई थी.
उसने मुझे लेटर दिया और कहा- मैं नहाने जा रही हूँ, आप पढ़ लेना.

यह मेरी भूल थी कि मैंने उसे एग्जाम देने अकेली बुलाया था, मुझे उसकी मम्मी को भी बुलाया लेना चाहिए था या उसके पापा से कह देना था कि मैं अपने रूम पर नहीं हूँ … बाहर काम से गया हूँ या बहाना बना देता कि मैं अपने दो साथियों के साथ रहता हूँ. मुझे कुछ भी बहाना बना देना चाहिए था.

खैर … मैंने सेजल का दिया हुआ लेटर पढ़ना शुरू किया.
“हैलो … मैं आपके साथ खुशी से रहना चाहती हूँ. मैं जितने दिन यहां रहूँगी … तब तक आपकी जीएफ बनकर रहना चाहती हूँ. अगर आपको अच्छा ना लगे, तो मैं गांव जाकर सब भूल जाऊंगी. सिर्फ थोड़े दिन मुझे अपनी जीएफ बना लो. -आपकी प्यारी सेजल आई लव यू.”

तब मैंने भी सोचा कि चलो इसे अपनी जीएफ बना ही लेता हूँ.
अब मैं और क्या कर सकता था.

वो नहाकर बाहर आई और बोली- क्या सोचा है?
मैंने कहा- सेजल, देखो ये गलत है, यदि किसी को पता चल जाएगा तो सब कुछ खत्म हो जाएगा.

उसने कहा- मैं किसी को नहीं बताऊंगी आप भी मत बताना.
मैंने कहा- वादा करो!
उसने वादा कर दिया.
वो बहुत खुश हो गई और मेरी बांहों में झूल गई.

मुझे लगा कि ये यहां रही तो अभी ही लग जाएगी.
मैंने कहा- चलो पार्क में घूमने चलते हैं.

उसने हामी भर दी.

हम दोनों पार्क में घूमने गए.
वहां एक कपल किस कर रहा था.

उसने कहा- मुझे ऐसे करना है.
मैंने कहा- रूम में करेंगे.

उधर से मैं जल्दी निकल आया और किसी भीड़ भाड़ वाले इलाके में उसे ले जाने की सोचने लगा.

मैं उसे एक मॉल में ले आया.
उधर मैंने उसके लिए कपड़े खरीद दिए. वो एक लेडीज स्पेशल शोरूम था.

वो मचल गई और अपने लिए उसने पैंटी और ब्रा भी ले लिए.
मैं कुछ नहीं बोल और पैसे देकर आगे बढ़ गए.

अब मैंने उसके साथ खाना खाया और हम दोनों रूम पर आ गए.

मैंने अपनी शर्ट उतारी … तो वो मुझे बड़े प्यार और कामुक नजरों से देख रही थी.
उसने कहा- आपकी बॉडी कितनी मस्त है!

मैंने कहा- हम जीएफ बीएफ जरूर बने हैं. लेकिन तुम मुझे मामा ही कहना और मैं तुम्हें भानजी ही समझ कर बुलाऊँगा. किसी को पता नहीं चलना चाहिए कि हम दोनों के बीच क्या है?
उसने बड़ी शराफत से सर हिला दिया.

फिर मैंने कहा- तुम घर पर कॉल कर लो. ताकि बाद में तुम्हें फोन न उठाना पड़े.
उसने कॉल किया.

उसके बाद वो मेरे साथ चिपकने लगी.
मैंने सोचा कि इसे कुछ ऐसा कहा जाए जिससे शायद ये मेरे साथ कुछ और करने की न सोचे.

तो मैंने उससे कहा- अगर तुम नहीं मानी तो तेरा ये मामा तेरे रसीले होंठों का रस पिएगा, मना तो नहीं करोगी ना!
उसने हंस कर कहा- अरे वाह माय लव आप तो बड़ी जल्दी पटरी पर आ गए. मैं आपकी ही हूँ, आप जो करना चाहते हो … मेरे साथ कर सकते हो.

मैंने कहा- तू नहीं कर पाएगी.
उसने कहा- क्यों … इधर सिर्फ हम दो ही तो हैं. आप कुछ भी कर सकते हैं कोई नहीं आएगा और कोई कुछ नहीं देखेगा.

अब मैंने भी सोचा कि माँ चुदाने गया मामा भानजी का रिश्ता. आज इसका मजा ले ही लेता हूँ. जो होगा, देखा जाएगा.

ऐसा सोचते ही मेरे अन्दर हिम्मत आ गई.
अब मैंने उसे एक जवान लड़की की तरह देखना शुरू किया.

मेरी भानजी सेजल का फिगर 32-28-34 का था. वो शायद अभी कुंवारी मुझे डर था कि ये मेरा सात इंच लम्बा लौड़ा कैसे लेगी.

वो मेरे करीब आ गई और मुझसे चिपकने लगी.
मैंने भी उसके होंठों को अपने होंठों से चिपका दिया और चूसने लगा.

आह … कितना मीठा रस था उसके होंठों में.
मैं अपने जीवन में पहली बार किसी लड़की के साथ मन से ऐसा कर रहा था.

मुझ पर वासना हावी होने लगी.
धीरे धीरे मैंने उसकी गर्दन पर किस किया. कुछ ही देर में वो काफी गर्म हो चुकी थी.

मैंने उसके ऊपर के कपड़े उतार दिए और ब्रा को खोल दिया.
मेरी कमसिन भानजी के प्यारे से नुकीले दूध बाहर आ गए.
उसके दूध एकदम तने हुए थे और निप्पल काफी पफी थे.

मैंने ब्लू-फिल्म बहुत देखी थीं और मुझे उनमें टीन गर्ल की चुदाई देखना बहुत पसंद थीं.

तब मैंने उसके निप्पलों को बहुत चूसा. उसके मुँह से कामुक आवाज में ‘ऊ … ऊ … आह.’ जैसी आवाजें निकाल कर मेरे अन्दर वासना भर रही थीं.

जल्द ही मैंने उसकी पैंटी भी उतार दी.
उस हॉट वर्जिन गर्ल Xxx छोटी सी बुर के ऊपर अपनी जीभ रख दी.
जैसे ही मैंने अपनी भानजी की गुलाबी बुर पर अपनी जीभ रखी, उसने जोर से ‘आह अह …’ किया.

कुछ देर बुर चाटने के बाद मेरी आँखों में किसी भेड़िये सी चमक आ गई थी और मैं अपनी भानजी की बुर फाड़ने के मूड में आ गया था.

मैंने अपना पैंट निकाला और अंडरवियर उतार दिया.
अब मैं पूरा नंगा हो गया था.

उसकी नजर जैसे ही मेरे फनफनाते हुए लौड़े पर गई, ऐसा लगा मानो उसने अजगर सांप को देख लिया हो.
वो बोली- मामा, आपका तो काफी बड़ा है.

मैंने उसके मुँह से इतनी देर में पहली बार मामा शब्द सुना था.
तब मैंने अपने लौड़े को सहलाते हुए कहा- इसलिए तो मैं मना कर रहा था कि मेरी जीएफ मत बन … मगर तुझे तो प्यार का भूत चढ़ा था न. अब तो तुझे इस अजगर को अपने बिल में लेना ही पड़ेगा.

मेरी भानजी अभी कुछ बोल पाती कि मैंने उसके बाल पकड़े और उसका मुँह अपने लौड़े में घुसा दिया. मैं लंड अन्दर बाहर अन्दर बाहर करने लगा.
उसके मुँह में से लार निकल रही थी.

अब मैंने ज्यादा देर नहीं लगाई और उसके दोनों पैरों को खोल कर उसकी बुर से लंड को सटा दिया.

उसकी बुर को मैं अपने लौड़े से रगड़ने लगा और मैंने घुसाने की ट्राई भी की.
लेकिन लंड अन्दर नहीं घुसा.

कुछ देर बुर की फांकों को लंड के सुपारे से चिकना करने के बाद मैंने एक जोर का धक्का दे दिया.

मेरा आधा लौड़ा उसकी बुर को चीरता हुआ अन्दर घुस गया.
सेजल जोर से चिल्ला उठी- उई मां … ओह … मर गई!

अब वह ‘प्लीज प्लीज छोड़ दो मुझे मामा आह मत करो …’ कह रही थी और उसकी आंखों से आंसू निकल रहे थे.

मैंने पूरा लंड उसकी बुर के अन्दर घुसा दिया.
वह अचेत सी हो गई थी और लगातार कराह रही थी.

मैंने ये देख कर अपना लौड़ा बाहर निकाल लिया.
उसकी बुर से खून निकल रहा था.

दस मिनट मैंने तक कुछ नहीं किया.
फिर मैंने उसे समझाया- तूने कहा था ना कि मैं जो चाहे कर सकता हूँ.

वो इतनी ज्यादा पागल थी कि उसने एक बार भी ये नहीं कहा कि अब रहने दो मामा.
वो हंस कर बोली- अब कर दो, मैं कुछ नहीं कहूँगी.

मैंने फिर से लंड घुसाया.
वो कराह रही थी मगर लंड पेलने दे रही थी.
मैं भी उसको चोदता रहा था.

थोड़ी देर बाद उसका दर्द कम हुआ और वो मुझसे बोलने लगी- आई लव यू जान … आपने मेरा सपना पूरा कर दिया. मैं आपकी हूँ.

मैं अपनी भानजी को पेल रहा था और भाग्य को सराह रहा था कि यदि इसको न पेलता तो शायद जीवन में इससे अच्छा मौका नहीं मिलता.

मेरी भानजी पूरे मजे से अपने मामा का लंड अपनी बुर में ले रही थी.
मैंने दो बार सेजल की चुदाई की और हम दोनों नंगे ही लिपट कर सो गए.

अगले दिन उसका एग्जाम था.
उसने दो दिन पेपर दिए.
फिर दो दिन की छुट्टी थी.

मैंने मेडिकल स्टोर जाकर दर्दनाशक स्प्रे लिया.

तब मैंने सेजल से कहा- आज रात को मैं तुम्हें प्यार से चोदूंगा.
उसने हंस कर कहा- आपने जैसे कल किया था, वैसे ही करना. मुझे दर्द बहुत हुआ था लेकिन वो दर्द दुबारा अनुभव करना चाहती हूँ. मैं चाहे जितना चिल्लाऊँ, आप अपना काम करते रहना.

मैंने सोचा कि ये लड़की बड़ी दमदार है.
मैं बहुत खुश हुआ और मैंने उससे कहा- ओके अब तुम कुछ भी कहोगी, मैं नहीं रुकूंगा.

उसने टॉप और स्कर्ट पहना था.
मैं बाथरूम में गया और सारे कपड़े उतार कर लंड धोकर और उस पर स्प्रे लगा कर बाहर आ गया.

मेरा लौड़ा तनतना रहा था. वो मुझे नंगा देखती रही.
मैंने उसके मुँह को बेड के किनारे पर रखा और अपना पूरा लंड डाल दिया.

अब मैं उसके मुँह में लंड को अन्दर बाहर कर रहा था. वो लंड बाहर निकालने की कोशिश कर रही थी. लेकिन मैं नहीं रुका. उसके मुँह से लार निकल रही थी और वो गों गों करने लगी थी.

मैंने लंड बाहर निकाला और उसको डॉगी स्टाईल में कर दिया. आगे से थोड़ी देर के लिए फिर से लंड को उसके मुँह में दिया और बाद में पीछे से लंड बुर पर सैट कर दिया.
उसकी कमर पकड़ कर मैंने एक ही झटके में पूरा लंड अन्दर पेल दिया.

वो चिल्लाती हुई आगे को सरक गई. लंड निकल गया.
मैंने वापिस डॉगी बनाया और अब मैंने उसके बाल पकड़ कर फिर से लंड घुसाया.

वो आह आह करती रही, लेकिन मैं नहीं रुका. मैं जोर जोर से चोदता रहा.
उसकी गांड बड़ी मस्त लग रही थी. मैंने उसे बताए बिना उसकी गांड पर लौड़ा रखकर जोर से धक्का दे मारा.

उसकी आंखों से आंसू आ गए और वो मना करने लगी- प्लीज छोड़ दो!
मैंने उसकी एक ना सुनी. मैंने उसको उस रात कई बार चोदा.

सुबह उसको बुखार आ गया.
मैंने उसको दवा दे दी.

अब हम दोनों बात करने लगे.

मैंने कहा- मेरी जीएफ बनना आसान नहीं है भानजी!
वो बोली- मामा, आपने तो भानजी को रखैल बना दिया.

मैंने कहा- तूने ही तो कहा था.
उसने कहा- मैं आपकी रखैल बनना पसंद करूंगी लेकिन मैं जब भी कहूँ, मुझे हचक कर चोद देना. मगर इतनी बेदर्दी से मत चोदना कि आपकी भानजी को बुखार चढ़ जाए. आपका लौड़ा बहुत विनाशकारी है.
मैंने हंस कर कहा- अभी तो केवल चार दिन ही हुए हैं, अभी तो सोलह दिन बाकी हैं. तुम्हारी बुर को भोसड़ा बना दूंगा और गांड को गड्ढा.

वह घबराई सी दिखने लगी, उसके चेहरे पर डर दिख रहा था.
मैंने कहा- चिंता मत करो, इतना जोर से नहीं चोदूंगा.
वह हंस दी.

मैंने कहा- चलो … अपनी पैंटी निकाल लो.
उसने कहा- कल करेंगे.
मैंने कहा- तू अभी निकाल … वरना वापिस फ़ाड़ दूंगा.

उसने निकाली.
मैंने देखा तो उसकी बुर और गांड फट चुकी थी.

मैंने उसे चाटा और मेडिसिन लगा दी और कहा- अब सो जा.
उसने कहा- चोदेंगे नहीं?
मैंने कहा- ऐसा कैसे हो सकता है, जरा रुक जाओ.

वो उस पूरी रात नंगी मेरी बांहों में नंगी सोई.
अगले दो तीन दिन उसके पेपर थे.

अब कुछ दिन और बचे थे.
उसने कहा- आपकी जान अब कुछ ही दिन की मेहमान है, आपको ऐसा मौका नहीं मिलेगा.

मैंने कहा- मैंने तेरी चूचियां और गांड कितनी बड़ी कर दी हैं, कोई देखेगा तो झट से समझ जाएगा कि सेजल लंड का मजा लेकर आई है.
वो हंस दी.

मैनें उसको किस किया और उसकी बुर और गांड में दर्द निवारक स्प्रे डाल दिया.

उसने मेरा लौड़ा मुँह में ले लिया और चूसने लगी.
मैंने फिर पूरी रात अलग अलग पोज में लंड पेला.

वो पूरे मजे ले रही थी.
अब वो चली जाने वाली थी.

मैंने रात को बार बार चोदा.
स्प्रे के कारण उसको दर्द कम हो रहा था.

उसकी गांड में दो इंच मोटा छेद बन गया था.
मैंने उसकी गांड के छेद में नारियल का तेल डाला और लंड पेला तो बड़ी मधुर आवाज आ रही थी.

पट पट
उसके मुँह से ‘आह आह्ह्ह्ह ओओ …’

फिर वो चली गई.
दो तीन महीने बीत गए.

हमारी बात व्हाट्सएप और फोन पर ही होती थी.

मैंने सेजल को बहुत मिस किया.
फिर मेरा प्रमोशन हो गया और मैं अमेरिका चला गया.

अब तो उससे बात किए दो ढाई साल हो चुके थे. मैंने उससे बात करने की बहुत कोशिश की, लेकिन सम्पर्क ही नहीं हुआ.

फिर जब मैं भारत आया और अपने घर गया, तो सेजल को देखा.
वो बहुत बड़ी हो चुकी थी.

मुझे देख कर खुश हो गई. मैंने उससे नम्बर लिया और फिर से बात करनी शुरू कर दी.
उसके साथ मैंने आगे भी बहुत मजे किए और बहुत बार चोदते समय सेजल को रोना पड़ा.

यह हॉट वर्जिन गर्ल Xxx कहानी आपको कैसी लगी, कमेंट करना ना भूलें.
[email protected]

About Abhilasha Bakshi

Check Also

कुंवारी बहन चुदी बरसात में

Xxx रेन सेक्स कहानी में मैं अपनी भाभी को चोदता था तो मेरे भाभी मेरी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *