कामवाली को गर्लफ्रेंड बना कर चोदा

यंग मेड सेक्स कहानी में पढ़ें कि अपने घर की 19 साल की जवान गदरायी हुई मस्त माल नौकरानी पर मेरा दिल आ गया। मैंने उसे कैसे पटाया और उसकी कुंवारी बुर में लंड घुसाकर उसकी सील तोड़ी?

नमस्कार दोस्तो, कैसे हैं आप सब?
उम्मीद करता हूं अच्छे होंगे।

यह मेरी पहली कहानी है। प्लीज इसे खूब प्यार दें।

मेरा नाम वेदांत है और मैं छत्तीसगढ़ का रहने वाला हूं।
मेरी उम्र 20 साल है और मैं लंबा चौड़ा नौजवान लड़का हूं।
मेरे लौड़े का साइज 7 इंच है और 3 इंच मोटा है।

मैं कॉलेज में बी एस सी की पढ़ाई कर रहा हूं।

यह यंग मेड सेक्स कहानी है पहले लॉकडाउन की।

वैसे तो मैं लड़कियों से दूर रहता हूं लेकिन जब मुझे पोर्न फिल्म की लत लग गई, तब से ही मैं किसी लड़की को चोदना चाहता हूं।
और यह लड़की मेरी कामवाली होगी, यह मुझे बिल्कुल नहीं पता था।

मैंने अपनी कामवाली को कभी ध्यान से नहीं देखा था.
लेकिन जब मैंने उसे एक दिन अपने कमरे में झाड़ू लगाते हुए देखा, तभी मैंने उसे चोदने का मन बना लिया।

अब मैं आपको उसके बारे में बताता हूं।

मेरी कामवाली का नाम तन्नू है।
19 साल की जवान गदरायी हुई मस्त माल है।
स्लिम बॉडी, गोल गोल बूब्स, उठी हुई मस्त गान्ड और खूबसूरत चेहरा!

हालांकि वह इतनी गोरी नहीं है लेकिन उसके शरीर ने उसको एक माल बना दिया है।

वह मेरे घर के पास ही रहती है।

आगे बढ़ते हुए:

जब मैंने तन्नू को उस दिन अपने कमरे में झाड़ू लगाते हुए देखा तो उसके गोल बूब्स लटक रहे थे और उसकी गान्ड मेरे बिल्कुल सामने थी।
उसे इस हालत में देख कर मेरा लण्ड खड़ा होने लगा।
मैंने उसी वक्त सोच लिया कि किसी भी तरह इसको चोदना है।

मेरे मोबाइल पर तन्नू का नंबर था क्योंकि घरवाले कभी कभी मेरे मोबाइल से उसे फोन किया करते थे।

मैंने देखा कि यही उसका व्हाट्सएप नंबर भी है।
तो मैंने उसे व्हाट्सएप पर बात करना शुरू कर दी।

कुछ दिनों बाद हमारी अच्छी दोस्ती हो गई और कुछ दिनों बाद हम दोनों बेस्ट फ्रेंड बन गए।

फिर मैंने उसे एक दिन अपने दिल की बात बता दी उसे ‘आई लव यू’ बोल कर।
उसने पहले तो कुछ नहीं बोला।
लेकिन 2 दिन बाद उसने हां कर दी।

अब मेरी कामवाली ही मेरी गर्लफ्रेंड बन गई थी।

कुछ दिनों तक वह बहुत शर्माती रही लेकिन बाद में वह बदल गई।
वह मेरे आस पास रहने लगी। झाड़ू पौंछा करने के बहाने से मेरे कमरे में बार बार आते जाती थी।

उसका यह खेल मुझे पसंद आया।

मैं उसे चोदने के लिए बेताब हुआ जा रहा था।
लेकिन मैं उसे इतनी जल्दी कैसे चोदूं।

मैंने सोचा कि पहले किस वगैरा किया जाए।

इसलिए मैंने उसे एक दिन अपने घर के छत पर बुलाया।

वह जैसे ही छत पे आई, मैंने छत का दरवाजा बंद किया और उसे एक चॉकलेट दी।
इससे वह खुश हो गई।

इसके बाद मैंने बोला- मुझे इसके बदले क्या मिलेगा?
तो वह शर्मा गई और बोली- जो तुम्हें चाहिए।

यह सुनते ही मैंने उसे अपनी बाहों में भर लिया।
वाह … क्या ही आनंद मिला।
उसके गोल बूब्स मेरे छाती पर दब रहे थे।

फिर मैंने अपने होंठ उसके होठों पर रख दिये और उसे चूमने लगा।

करीब 15 मिनट तक हमने चूमाचाटी की।

इस दिन के बाद जब भी हमें मौका मिलता, हम दोनों एक दूसरे को किस करना शुरू कर देते थे।

वक्त गुजरता गया और हम दोनों एक के बाद एक कई चीजें करने लग गए।

मैंने तन्नू को ऐसे ही एक दिन सेक्स के लिए बोल दिया।
पहले तो उसने साफ मना कर दिया।
मैंने भी जोर नहीं दिया।

लेकिन बार बार बोलने से वो सेक्स करने के लिए राजी हो गई।
लेकिन एक दिक्कत थी कि हम सेक्स कहाँ और कैसे करें।
वह मान तो गई थी लेकिन अब सेक्स का इंतजार करना और भी मुश्किल हो गया था।

आखिरकार वह दिन आ ही गया जिस दिन का मुझे बेसब्री से इंतज़ार था।

मुझे एक मौका मिला।
वो यह था कि हमें एक शादी में जाना था लेकिन ये बात मुझे नहीं पता थी।

जब मुझे पता चला कि हम एक शादी में जाने वाले हैं जिसमें पूरा एक दिन लगेगा तो मैंने शादी में जाने से मना कर दिया।
मैंने ऑनलाइन एग्जाम का बहाना बनाया।

घर वालों को यह बात पता चली तो वे भी कुछ नहीं बोले।

यह बात मैंने तन्नू को बताई तो वह भी खुश हो गई।

घर वाले शादी में जाने के लिए तैयार थे।
मेरी मम्मी ने तन्नू को बोला कि आज घर में ही रहे।

अब वे जा चुके थे और मेरा रास्ता बिल्कुल साफ था।
मैं जल्दी से कंडोम खरीद कर ले आया।

और हम दोनों सेक्स के लिए तैयार थे।

तन्नू ने 10 बजे तक सारे काम निपटा लिया।

फिर वह तैयार होने के लिए अपने घर चली गई।
वह 11 बजे तक वापस आ गई।

उसने टाइट लाल कुर्ती और नीली जींस पहनी थी।
इन कपड़ों में वह बला की खूबसूरत लग रही थी।
उसने हल्का मेक अप भी किया था।
टाइट कुर्ती में उसके बूब्स और भी बड़े और सुंदर लग रहे थे।

मुझसे रहा नहीं जा रहा था।
मैं उसको अपने कमरे में लाया और दरवाजा और खिड़की बंद कर दिये।

हम दोनों ने एक दूसरे को किस करना शुरू किया।
करीब 15 मिनट तक हमने चूमाचाटी की।

मैं उसके होठों की लिपिस्टिक चाट गया।
अब वह गर्म होने लगी थी।

उसने मेरी टीशर्ट उतार दी और मेरे शरीर को चूमना चाटना चालू कर दिया।
मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।

अब मैंने उसकी कुर्ती उतार दी।
मेरे सामने वो अब सिर्फ जींस और ब्रा में थी।

उसने काली ब्रा पहनी हुई थी और उसमें वह बहुत हॉट लग रही थी।
मैंने उसके शरीर को चूमना चाटना चालू कर दिया।
उसको बहुत ही आनंद मिल रहा था।
मैं उसके पूरे बदन को चूम रहा था।

फिर मैं उसके गोल गोल बूब्स को दबाने लगा।

फिर मैं उसकी जींस के ऊपर से उसकी चूत को सहलाने लगा।
उसको बहुत मजा आ रहा था।

मैंने उसकी जींस उतार दी और अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी।
वाह! काली ब्रा पैंटी में वो परी से कम नहीं लग रही थी।

उसने मेरे लोवर में टावर की तरह खड़े लौड़े को देखा।
फिर तन्नू ने मेरा लोअर उतार दिया।

अब मैं चड्डी में था।

हम दोनों ने ऐसे ही एक साथ सेल्फी और फोटो ली।
अब वह मेरे लण्ड को सहलाने लगी।

उसने मेरी चड्डी उतार दी।
अब मैं बिल्कुल नंगा था।

उसने मेरे लण्ड को हिलाना शुरु किया।
उसके कोमल हाथ में मेरा लण्ड बहुत अच्छा लग रहा था।

मैंने लण्ड को मुंह में लेने को कहा।
उसने मेरे लण्ड को मुंह में भर लिया।

मेरा बड़ा लण्ड उसके मुंह में आधा ही गया।
अब वो तेजी से लण्ड चूस रही थी।

अहा! क्या ही मजा आ रहा था।

करीब 20 मिनट तक लण्ड चुसाई का कार्यक्रम चला।

अब मैं झड़ने वाला था।
उसने कहा- मेरे मुंह में ही सारा माल निकालना।

मैंने ऐसा ही किया, मैं उसके मुंह में झड़ गया और वह मेरा सारा वीर्य चट कर गई।

अब मेरी बारी थी।
मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसकी ब्रा उतार कर फेंक दी।

उसके गोल गोल बूब्स मेरे सामने नंगे थे।
मैंने उसके बूब्स को खूब दबाया। मैं एक से दूध पीता और दूसरे को दबाता।

मैंने उसके बूब्स को दबा दबा कर लाल कर दिया।

अब मैं नीचे बढ़ा। मैं उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को सहलाने लगा।
उसकी चूत गीली हो गई थी।

मैंने उसकी पैंटी भी उतार दी।
अब वह बिल्कुल नंगी थी।

मैं उसकी चूत में उंगली करने लगा।
वह सिसकारियां भरने लगी।
आह! आह! आह! की आवाज निकाल रही थी।

फिर मैं उसकी चूत चाटना शुरू कर दिया।
वह मदहोश होने लगी।
आह! उह! ऐसी आवाज निकाल रही थी.

मैंने उसकी चूत करीब 15 मिनट तक चाटी।

वह झड़ने वाली थी और मैंने उसकी चूत और तेज़ी से चाटना शुरू कर दिया।
इससे वह झड़ गई और मैंने उसका सारा रस चाट चाट कर साफ़ कर दिया।

अब मेरा लण्ड खड़ा हो चुका था.
मैंने कॉन्डम पहना और पोजिशन लेने लगा।

मेरा लण्ड उसके चूत में घुसने के लिए तैयार था।
मैं लण्ड को एडजस्ट कर रहा था, तभी वह बोली- यह मेरा पहला बार है।

वह डर रही थी।
मैंने उसको हौसला दिया और उसकी चूत में थूक लगाया।

मैंने पहला धक्का लगाया और मेरे लण्ड का टोपा उसकी चूत में घुस गया।
वह सिहर उठी।
उसको बहुत दर्द हो रहा था।

मैं रुका उसको थोड़ा समय दिया।
तब मैंने दूसरा धक्का लगाया और मेरा आधा लण्ड उसकी चूत में घुस गया।

वह चिल्ला दी।
मैंने जल्दी से उसका मुंह अपने हाथ से बंद किया।

उसकी चूत से खून निकल आया।
मैंने खून को साफ किया।

तभी मैंने उसको चूमना शुरू किया ताकि वह स्थिर हो जाए।
2-3 मिनट बाद वह शांत हुई।

मैंने फिर तीसरा धक्का लगाया।
अब मेरा पूरा लण्ड उसके अंदर चला गया।
वह जोर जोर से रोने लगी, वह बोली- मुझे सेक्स नहीं करना। अपना लण्ड बाहर निकालो प्लीज़!

लेकिन मैंने उसकी एक नहीं सुनी।

5 मिनट बाद जब वह शांत हुई तो मैंने धीरे धीरे अपना लण्ड अंदर बाहर करना शुरू किया।
थोड़ी देर बाद उसको भी मज़ा आने लगा।

मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई और उसको बहुत मजा आ रहा था।
उसकी आह! आह! उह! उह! की आवाज पूरे कमरे में गूंज रही थी।

वह गान्ड उठा उठा कर चोदवा रही थी।
आह! उह! उई! उई! अम्ह! ओह! और चोदो … और चोदो! ऐसी आवाजें निकाल रही थी।

मैं यह सुनकर और भी ज्यादा स्पीड से उसकी चुदाई कर रहा था।
हम दोनों ने 30 मिनट तक नॉनस्टॉप धकापेल चुदाई करी।

यंग मेड सेक्स के बाद हम दोनों साथ ही झड़े।

इससे हम बहुत ही खुश थे और थके हुए भी थे।
हमने 11 बजे से शुरू किया था और अब 1.30 बज गए थे।

हमने फिर नंगे ही खाना खाया और नंगे ही एक दूसरे से लिपट कर सो गए।

2 घंटे के बाद मेरी नींद खुली।
हमने कपड़े पहने और वह अपने घर चले गई।

जब शाम को 7 बजे वह वापस आई तो हमने दुबारा सेक्स किया।

क्योंकि मेरे घर वाले देर रात तक आने वाले थे तो उसने जल्दी जल्दी खाना बनाया।

मैं पूरे वक्त उसके साथ था। मैं उसके बूब्स दबाता उसकी गान्ड में हाथ मारता, किस करता।

आधे घण्टे में उसने सारे काम निपटा लिए।

इस बार हमने डॉगी स्टाइल में चुदाई करी।
उसको कुतिया बनाकर चोदने में मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और वह भी मजे से चुदाई करवा रही थी।

करीब 25 मिनट तक हमने चुदाई करी।
उसके बाद हमने किचन में भी चुदाई करी।

अब हमें जब भी, जहाँ भी मौका मिलता है, हम सेक्स करते हैं।
कमरे में, किचन में, बाथरूम में, छत में, कहीं भी।

तो यह थी मेरे पहले सेक्स की कहानी।
आपको मजा तो बहुत आया होगा।

तो अब मैं इजाजत चाहूंगा।
मेरी यंग मेड सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, मुझे कमेंट्स में बताएं.
धन्यवाद।
[email protected]

About Abhilasha Bakshi

Check Also

भाई के बॉस के लड़के से चुद गयी मैं

टीन वर्जिन बुर Xxx कहानी में मेरा भाई जॉब करता था और मैं पढ़ती थी. …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *