www.hdnicewallpapers.com

ममेरी बहन के साथ सेक्स रिलेशन- 2

बेहन सेक्स रिलेशन स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने पहली बार अपने मामा के घर में उनकी बेटी की जवान बुर का मजा लिया. पहले ओरल सेक्स फिर चूत चुदाई!

फ्रेंड्स, मैं आपको अपनी सेक्स कहानी
ममेरी बहन को फोन सेक्स में चोदा
में बता रहा था कि कैसे मैं अपनी ममेरी बहन मेघा को फोन सेक्स के माध्यम से चोद रहा था.
वो झड़ चुकी थी.

अब आगे बेहन सेक्स रिलेशन स्टोरी:

मैंने उससे पूछा- असली में कब मिलोगी तुम?
मेघा- आप मेरे बड़े भाई हो. फोन तक तो ठीक है, लेकिन ये सब असली में कैसे करूँगी?
मैं- सब हो जाएगा.

मेघा- मुझे बहुत शर्म आएगी.
मैं- कुछ नहीं होगा. परेशान मत हो.

मेघा- मैं अगले सप्ताह घर आ रही हूँ.
मैं- ठीक है, फिर मैं भी आ जाता हूँ.

मेघा- आपको मैं सच में इतनी अच्छी लगती हूँ क्या?
मैं- मेघा, मैं टाइम पास नहीं कर रहा था.

अगले सप्ताह मैं मामा के यहां आ गया और मेघा भी घर आ गई थी.
हम दोनों ने एक दूसरे को देखा.
मेघा थोड़ा शर्मा रही थी.

फिर रात हुई.
मैं, मेघा और उसकी बहन एक ही रूम में सोए थे.

मैं सोफे पर था. मैं और मेघा फोन पर चैट कर रहे थे.

मैं- अकेले नींद आ जाएगी तुम्हें?
मेघा- हां.

मैं- मेरा मन है तुम्हारे पास आने का!
मेघा- भैया, सलोनी जाग गई तो दिक्कत हो जाएगी.

मैं- थोड़ी जगह बनाओ, मैं आ रहा हूँ.
मेघा- थोड़ी और रात होने दो. फिर आना.

ऐसे ही चैट करते करते एक घंटा बीत गया.
रात का एक बज गया.

मेघा- भैया, सलोनी सो गई है.
मैं बेहन सेक्स रिलेशन का मजा लेने के लिए मेघा के साइड में लेट गया.

मेघा- अब बताइए.
मैंने मेघा को गाल पर किस किया.

मेघा भी गर्म थी.
उसने मेरी तरफ करवट ले ली और फिर हम दोनों ने चूमाचाटी शुरू कर दी.

मैं मेघा को किस भी कर रहा था और उसके दूध भी मसल रहा था.
मेघा बस किस कर रही थी.

फिर मैंने मेघा की स्कर्ट में हाथ डाल दिया.
उसने पैंटी नहीं पहनी थी.

मेघा ने हल्के से अपनी टांगें बंद कर लीं.

मैंने मेघा की चूत में दो उंगलियां डाल कर अन्दर बाहर करना शुरू किया.
उसकी चूत बहुत गीली थी.

मैंने मेघा से कहा- मुझे चूत पीनी है.
मेघा- ओके.

मैं मेघा की जांघों के पास गया और उसकी टांगें खोल दीं.
मेघा भी तैयार थी.

मैंने मेघा की चूत को जीभ से चाट लिया.
मेघा एकदम से तड़प उठी और अपनी टांगें बंद करने लगी.

मैंने मेघा की टांगें और फैला दीं और उसकी चूत को पूरा मुँह में भर कर चूसने लगा.
बहुत नमकीन थी.

मेघा तो बिल्कुल तड़प उठी ‘आआहह … भैया छोड़िए मुझे.’
मैं तो बस उसकी चूत पीने में बिज़ी था.

थोड़ी देर बाद मेघा को भी अच्छा लगने लगा और उसने अपनी टांगें पूरी खोल दीं.

मैंने मेघा की चूत 15 मिनट तक पी.
मेघा उस दौरान 2 बार झड़ी और मैंने उसका पूरा रस पी लिया.

मेघा- भैया, मुझे आपका वाला चूसना है.
मैं फिर से लेट गया और मेघा ने मेरा लंड पकड़ा और कस कस कर चूसने लगी.

पांच मिनट बाद मैंने मेघा के मुँह के अन्दर रस भर दिया.

मेघा पूरा रस पी गई और लंड चाट कर साफ़ कर दिया.
फिर मेघा मेरे बगल में लेट गई.

मैं- मेघा तुम्हारी लेनी है मुझे!
मेघा- लेकिन बेड हिलेगा तो सलोनी जाग जाएगी.

मैं- नीचे गद्दा लगा कर मजा लेते हैं.
मेघा हंसने लगी- बहुत मन है आपका … लग रहा मुझे!

मेघा ने ज़मीन पेर गद्दा लगाया और लेट गई.
मैं मेघा के ऊपर चढ़ गया और उसे किस करने लगा.

मेघा भी गर्म थी और मुझे किस कर रही थी.

मैंने मेघा की शर्ट खोल दी, उसके बूब्स पूरे खुल गए; फिर उसकी स्कर्ट जांघों तक उठा दी.

मेघा- पूरी स्कर्ट उतार दूँ क्या?
मैं- नहीं. कोई आ गया तो दिक्कत होगी.
मेघा- ओके.

मैं कसके मेघा से लिपट गया और उसे किस करने लगा.
साथ ही मैं उसके दूध भी मसल रहा था.

मेघा- भैया, बहुत पानी आ रहा है.
मैंने मेघा की टांगें खोल दीं और धीरे धीरे उसकी चूत में लंड डालने लगा.

लंड एक बार में पूरा मेघा की चूत में चला गया.
मेघा ने दर्द से आंखें बंद कर लीं.

मेघा- भैया बहुत बड़ा है आपका!
मैं- लेकिन तुम तो पूरा अन्दर ले ली.

मेघा हंसने लगी और अपने दोनों हाथ मेरे गले में फंसा कर बोली- अब करिए … जैसे फोन पर करते थे.
मैं- क्या करूँ?
मेघा- मुझे प्यार.

मैंने धीरे धीरे मेघा की चूत में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

मेघा- आआहह.
मैं- मज़ा आ रहा है?

मेघा- बहुत … इस्स और अन्दर डालिए ना!
मैंने पूरा लंड मेघा की चूत में डाल दिया और उससे कसके लिपट गया.

मेघा- भैया खूब कस कसके कीजिए.

मैं मेघा के होंठों को चूसने लगा और उसकी चूत में खूब कस कसके लंड अन्दर बाहर करने लगा.

मेघा- आअहह … और तेज भैया.
मैं- और तेज?
मेघा- हां और.
मैं- और तेज मेघा?
मेघा- हां भैया और तेज … आअहह.

अब लंड मेघा की चूत में आराम से अन्दर बाहर हो रहा था और उसकी चूत खुल चुकी थी.

मेघा- क्या कर रहे आप मेरे साथ?
मैं- बोल दूँ?
मेघा- हां.

मैं- तुम्हारी चुदाई.
मेघा- ऐसे बोलते हो तो मन करता है आपको एकदम अपने अन्दर भर लूँ.

मैं मेघा की चुदाई कर रहा था और उसके दूध झूल रहे थे.

फिर हम और मेघा एक दूसरे की आंखों में देखने लगे.

मेघा- और.
मैं- क्या औररर?
मेघा मुस्कुराती हुई बोली- और चोदिए मुझे!

मैंने लंड अन्दर ठेलते हुए कहा- और चोदूँ?
मेघा कराह कर बोली- हां और चोदिए … आअहह.

मैं- मज़ा आ रहा चुदने में?
मेघा- हां … आपको शर्म नहीं आ रही अपनी बहन की लेते हुए?
मैं- तुम्हें शर्म नहीं आ रही मुझे देने में?

मेघा- पहले आपने ही मुझे उकसाया. अब मेहनत तो करनी पड़ेगी आपको.

मैं- मैं तो पूरी रात मेहनत करने को तैयार हूँ.
मेघा- तो करो ना … कस कसके चोदो अपनी बहन को.

ये सुनकर मैं मेघा की चूत में और कस कसके लंड अन्दर बाहर करने लगा.

मेघा- आआ अहह.
मैं- मेघा तुम्हें चोदने में सच में बहुत मज़ा आ रहा है.
मेघा- मुझे भी.

मैं- मेघा, मेरा होने वाला है.
मेघा- अन्दर ही कर दीजिए.

मैंने मेघा की चूत भर दी.
मेघा- आआहह.

फिर हम दोनों अलग अलग हो गए और सो गए.

अगले दिन मेघा मुझसे बिल्कुल भी शर्मा नहीं रही थी.

चार दिन बाद घर में कोई नहीं था.
मामी पड़ोस में गयी थीं, मेघा की बहन स्कूल गयी थी.

मैं सुबह उठा और नहाने के लिए बाथरूम में चला गया.

थोड़ी देर बाद दरवाजे पर किसी ने नॉक किया.
मैंने देखा तो मेघा थी.

मैं- क्या चाहिए?
मेघा मुस्कुराती हुई- जो उस रात में दिया था.

मैं- अरे कोई आ गया तो?
मेघा- कोई नहीं है. मम्मी आंटी के यहां हैं और सलोनी स्कूल गयी है.

मैंने दरवाजा पूरा खोल दिया और मेघा बाथरूम में आ गयी.
मेघा ने स्कर्ट और टी-शर्ट पहनी थी.

मैंने मेघा को दीवार पर लगा दिया और उसके होंठों को पीने लगा.
मेघा भी मेरे होंठों को पी रही थी.

मैं टी-शर्ट के ऊपर से ही उसके बूब्स मसलने लगा.
मेघा ने अपनी टी-शर्ट उतार दी.

मैंने मेघा की ब्रा उतार दी और उसके दूध पीने लगा.
मेघा- आआअहह … आराम से.

फिर मैंने उसकी स्कर्ट भी उतार दी.
मेघा अब ब्लैक पैंटी में थी.

मेघा ने भी अंडरवियर के ऊपर से मेरा लंड पकड़ लिया और बोली- मुझे पीना है.
मैंने मेघा को नीचे बैठाया और लंड उसके मुँह में डाल दिया.

वो मेरे लंड को आइसक्रीम की तरह चाट रही थी और पागलों की तरह पी रही थी.

मैंने मेघा के मुँह के अन्दर ही पूरा माल भर दिया और उसने पूरा पी लिया.

मैंने मेघा को लेटने के लिए बोला और उसकी पैंटी उतार दी.

मेघा- मेरी क्या पीने वाले हैं आप?
मैं- जो तुमने पैंटी में छुपा रखी है.
मेघा- पागल हो जाती हूँ मैं … जब आप उसे पीते हैं.

मैं- आज और पागल कर दूँगा तुम्हें.
मेघा हंसती हुई- चूस लीजिए.

मैंने मेघा की दोनों टांगें फैलाईं और उसकी चूत को चाटने लगा.

मेघा- भैया आह भईया … आआहह.

उसकी चूत बहुत गीली थी और नमकीन थी.

मेघा- आअहह … आप तो मार ही डालेंगे!

मैंने मेघा की चूत के दाने को काट लिया.

मेघा तड़प उठी- आआ आहह.

वो ज़मीन पर दोनों पैर फैलाए लेटी थी और मैं उसकी चूत चूस रहा था.

कुछ ही देर में मेघा एक बार झड़ चुकी थी, फिर भी उसकी चूत बहुत गीली थी.
मैं मेघा के ऊपर आ गया.

मेघा- हालत खराब कर देते है आप तो!
मैं- जब डाल कर करेंगे, तब तुम्हारी ज्यादा हालत खराब होगी.
मेघा- तो डालिए ना फिर!

मैंने मेघा की चूत में अपना लंड डाल दिया.
मेघा- आंह भैया बहुत बड़ा है आपका!

मैंने धीरे धीरे मेघा की चूत में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.
मेघा- अहह.
मैं- क्या हुआ?

मेघा- कुछ नहीं … और अन्दर भैया.
मैंने मेघा की टांगें और फैलाईं और पूरा लंड उसकी चूत में फिट हो गया.

मेघा- भैया चला गया पूरा?
मैं- हां.

अब मैंने मेघा की चूत में स्पीड बढ़ा दी.
मेघा- आहह.

मैं- मज़ा आ रहा है?
मेघा- बहुत.

मैं- गंदा बोलो तभी और कसके चोदूंगा तुम्हें.
मेघा- और कसके चोदिए.

मैं- और कसके?
मेघा- हां और कसके भैया.

मैं- कैसे चुदवा रही हो तुम?
मेघा- पूरी नंगी होकर बाथरूम में.

मैं- और अच्छे से बोलो.
मेघा- पूरी नंगी होकर, टांगें फैला कर अपने भैया से चुद रही हूँ.

ये सुनकर मैंने मेघा की चूत में स्पीड बढ़ा दी.
मेघा- और तेज चोदिए.

मैं- बहुत गीली है तुम्हारी चूत मेघा.
मेघा- तभी तो आपका लंड अन्दर ले पा रही हूँ.

मैं- कितनी खूबसूरत हो तुम!
मेघा- इसीलिए आपका दिल मुझ पर आया और आज बाथरूम में आपके साथ हूँ.

मैंने मेघा के होंठों को मुँह में भर लिया और खूब किस करने लगा.
मेघा भी खूब जीभ घुमा घुमा कर मुझे किस कर रही थी.

मेघा- भैया, मुझे आपके ऊपर आना है!

फिर मेघा मेरे ऊपर आकर बैठ गयी और चूत में लंड फंसा कर ऊपर नीचे होने लगी.
उसके बूब्स भी झूल रहे थे.
मैंने मेघा के दूध हाथ में लिए और कस कसके मसलने लगा.
मेघा- अहह.

मैं- बहुत हॉट हो तुम. मन करता है पूरा दिन तुम्हें प्यार करूँ.
मेघा- तो करिए ना प्यार!

मैंने मेघा को पेट के बल लिटाया और उसके हाथ पीछे की तरफ मोड़ दिए.

फिर पीछे से उसकी चुदाई करने लगा.

मेघा- आह आप तो मेरी जान ले लेंगे.
मैं- तुम्हारी चूत भर दूँ?

मेघा- भर दीजिए.
मैंने पूरा लिक्विड मेघा की चूत में भर दिया.

मेघा ने मुझे किस किया और फिर कपड़े पहन कर बाथरूम से चली गयी.

थोड़ी देर बाद घर में सब लोग आ गए.

मेघा के दूध पहले से बड़े लगने लगे थे और वो और भी खूबसूरत हो गयी थी.

लेकिन हम लोगों की लव स्टोरी ज़्यादा दिनों तक छुप नहीं पाई.

कुछ ही दिनों में मामी को हम दोनों पर बेहन सेक्स रिलेशन का शक हो गया.
उन्होंने ये चैक करने के लिए कि मेरे और मेघा के बीच कितनी नज़दीकियां हैं, उसके लिए उन्होंने एक रात को प्लान बनाया.

मैं, मेघा और सलोनी तीनों रूम में सोने के लिए गए.
उस रात मामा नहीं थे तो मामी अकेली ही सो रही थीं.

मामी ने सलोनी को सोने के लिए अपने पास बुला लिया.
मैं और मेघा रूम में अकेले हो गए.

मामी ने करीब 12 बजे दरवाजे पर कान लगाया.
उन्हें अन्दर से मेघा की आवाजें आ रही थीं.

मेघा- आआहह … अहह … भैयाआ … और तेज … और तेज भैया … और अन्दर और कसके करिए. खूब अन्दर तक डालिए … आआअहह … और तेज भैया … और तेज … और अन्दर तक. आंह … आआअहह.

मामी को सब समझ आ गया कि मेघा अब बच्ची नहीं रही.
वो रात भर सोचती रहीं.

फिर सुबह उन्होंने मुझे जाने नहीं दिया और एक महीने के लिए और रोक लिया.

मामी ने मेघा को स्कूल नहीं जाने दिया.
उससे कहा कि घर का काम करे.

मैं छत वाले बाथरूम में नहाने गया, तो थोड़ी देर बाद उन्होंने मेघा को छत की सफाई करने के लिए भेज दिया.

आधा घंटा बाद मेघा छत से नीचे उतरी.
वो थोड़ा थकी लग रही थी और बाल भी बिखरे थे.
लेकिन देखने से खुश लग रही थी.

मामी तुरंत समझ गईं कि मेघा मुझसे चुदवा कर आई है.

फिर इसके बाद मामी ने क्या कदम उठाया, वो मैं आपको अपनी अगली सेक्स कहानी में लिखूँगा.

तब तक आप मुझे मेल कीजिए, बताइए कि आपको मेरी बेहन सेक्स रिलेशन स्टोरी कैसी लगी?
[email protected]

About Abhilasha Bakshi

Check Also

521: Web server is down

What can I do? If you are a visitor of this website: Please try again …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *