दोस्त की मम्मी को चोदकर गर्भवती किया (Punjabi Aunty Sex Kahani)

पंजाबी आंटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने दोस्त की सौतेली मम्मी को चोदा. मेरे दोस्त ने खुद मुझे उकसाया और उसकी मम्मी की चुदाई करने को कहा.

हैलो, देसी सेक्स कहानी पसंद करने वाले सारे दोस्तो को मेरा नमस्कार.
मैंने अभी तक कोई भी सेक्स कहानी नहीं लिखी. वो इसलिए नहीं लिख सका क्योंकि मैं फर्जी सेक्स कहानी नहीं लिख सकता और न ही मेरे हाथ कुछ बनावटी लिख पाते हैं.

पहले अपने बारे में बता देता हूँ. मेरा नाम नवदीप है, मैं पंजाब के संगरूर जिले का रहने वाला. मैं एक 24 साल का हैंडसम सा लड़का हूँ. मेरे लंड का साइज आप ईमेल भेज कर देख सकते हैं, वैसे साइज 7 इंच का है. मैं रोज कसरत करता हूँ और मैंने खासी स्टैमिना बना रखी है.

ये पंजाबी आंटी सेक्स कहानी मेरे दोस्त की दूसरी मां मतलब सौतेली मम्मी की है. इसमें मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपने दोस्त की मां को नंगी करके उसी के घर के बीच में आंटी को घोड़ी बना कर चोदा था … और मजे की बात यह है कि इसमें मेरी मदद खुद मेरे दोस्त ने ही की थी.

मेरा दोस्त 20 साल की उम्र का जालंधर का रहने वाला है और उसकी मां का नाम अंजू है. अंजू आंटी करीब 30-32 साल की होंगी और दिखने में ठीक ठाक हैं, पर साली के मम्मों को देख कर मेरा चूसने का मन करता था.

अंजू आंटी का फिगर 34-32-36 का है और अंकल 45-46 साल के एक बिज़नेसमैन हैं.

अब लौंडे अपना लंड पकड़ लें और लौंडियां अपनी चूत में उंगली डाल लें.

ये बात लॉकडाउन से पहले की है. मेरा यह दोस्त ऑनलाइन बना था और संगरूर के पास जालंधर का ही था. कुछ ही समय में हमारी दोस्ती काफी अच्छी हो गयी थी.

उस दिन मैं जालंधर में ही था तो उसने मुझसे अपने घर में आने का निमंत्रण दिया.
मैं उसके घर चला गया.

अभी तक सारा कुछ सही था, उसकी मां को लेकर मेरी कोई भी गलत सोच नहीं थी.
मैं उसके घर से वापस जाने लगा तो उसने मुझे फ़ोर्स करके अपने घर रोक लिया.

वो बोला- यार यहीं रुक जाओ … जैसे अपने घर रुके सो इधर रुके.
मैंने उसकी बात मान ली और अपने घर फोन करके बता दिया कि मैं अपने दोस्त के घर रुक गया हूँ.

हम दोनों ने रात का खाना खा लिया और सोने चले गए.
मैं आराम से सो गया.

पर रात को मेरी नींद खुली और मैंने देखा कि मेरा दोस्त अपने बिस्तर पर नहीं था. मैंने सोचा बाथरूम करने गया होगा.

इतने में मुझको भी सुसु आने लगी और मैं भी बाथरूम करने चल दिया.
मगर मैंने देखा कि वो बाथरूम में भी नहीं है तो मुझको टेंशन हो गई.
क्योंकि मैं पहली बार इसके घर आया था और यह इतनी रात को कहां चला गया?

मैंने उसको आस-पास देखना शुरू किया. घर में दूसरे कमरों में झांका तो मैंने देखा कि वो अपने मम्मी पापा के बेडरूम के पास खड़ा होकर मुठ मार रहा था.

मैंने पीछे से जाकर उसको देखा और ये सीन देख कर हिल गया.
वो अपने मम्मी पापा की लाइव चुदाई देख कर मुठ मार रहा था.

मैंने उसको थपकी दी तो वो सकपका गया.
तब मैंने उससे पूछा- यह तुम क्या कर रहे हो भाई?

वो मुझे ऐसे देख कर काफी डर गया था. मगर वो मुझको हाथ पकड़ कर जल्दी से अपने रूम में ले गया.

उसने मुझसे कहा- मुझको मेरी मां की चुदाई होते देखना बहुत अच्छा लगता है और बहुत मजा भी आता है.

पहले तो मुझको यह सुन कर काफी बुरा लगा, पर फिर मुझको भी उसकी बातों में मजा आने लगा.
मैंने उससे कहा- हम्म … चुदाई देखने में कोई गलत बात नहीं है. चलो हम दोनों चलकर चुदाई देखते हैं.

जब हम वापिस बेडरूम के पास गए तो तब तक खेल खत्म हो गया था.
मतलब उसका बाप उसकी मां को चोद कर सो गया था.

हम दोनों वापिस अपने कमरे में आ गए. मगर मैंने देख लिया था कि उसकी मम्मी जाग रही थीं और अपनी टांगों के बीच अपने हाथ से कुछ रगड़ रही थीं.

फिर कमरे में आकर दोस्त ने मुझको सारी बात खुल कर बताई और कहा- मुझको अपनी मां को किसी दूसरे मर्द से चुदते हुए देखना है … वह भी हमारे घर के बीचों बीच … वो भी पूरी घोड़ी वाले पोज़ में.

मैं सारी बात सुन कर मज़े ले रहा था कि इतने में वो बोला- क्या तुम मेरी मां को चोदना चाहते हो?

मैंने सकपका गया और बोला- क्या बात कर रहा है बे … वो तेरी मां है और मैं उनको कैसे चोद सकता हूँ. अगर उन्होंने तेरे पापा को बता दिया तो मेरी जान को प्रॉब्लम हो जाएगी.
वो बोला- ऐसे कुछ नहीं होगा. तुम बोलो मेरी मां तुमको पसंद है … क्या चोदना चाहोगे क्या उनको?

मैंने कुछ सोचा और बोला- हां पर कैसे होगा यह?
वो बोला- ये सब तुम मेरे ऊपर छोड़ दो.
हम दोनों सो गए.

फिर सुबह हुई और उसने अपनी मां के बाथरूम में कैमरा लगा दिया.
जब उसकी मां नहाने गईं … तो उसकी मां की सारी वीडियो हमारे पास आ गयी.
हमने लैपटॉप में वीडियो डालकर देखी और मज़ा लिया.

यार क्या चूचे थे आंटी के … पूरी पंजाबन लुक्स थे.
आंटी मस्त नंगी नहा रही थीं. उनकी मोटी मोटी गांड को देख ऐसा मन किया कि साली को अभी जाकर नंगी कर दूँ और अपना 7 इंच का लंड उनकी चूत में पेल दूँ.

फिर वो वीडियो मैंने अपने फ़ोन में डाल लिया और मैंने उसकी तरफ देखा. वो समझ गया कि मेरा क्या प्लान है.

अब मेरा दोस्त बहाना बना कर मार्किट चला गया. घर में सिर्फ मैं और मेरी रानी अंजू रह गई थीं बस.

मैं अंजू आंटी के बेडरूम में गया. उधर वो अपने बाल सही कर रही थीं.
मैं जाकर उनके पास बैठ गया.

आंटी मुझे देख कर बात करने लगीं. मैंने भी उनसे बातें कीं.

फिर मैंने उनको पीछे से जफ्फी डाल दी, तो वो मुझको दूर करने लगी.
आंटी ये सब अंकल को बोलने की धमकी देने लगीं.

मैंने अपने फ़ोन में वो वीडियो प्ले कर दिया, जिसे देख कर वो चुप हो गईं और बोलीं कि इसे डिलीट कर दो.
मैंने कहा- इक बारी मेरे साथ सेक्स कर लो आंटी … वैसे भी अंकल आपको खुश नहीं कर पाते हैं. मैंने रात को देखा था अंकल आपको चोद कर ढीले पड़ गए थे और आप दुखी थीं. एक बार मुझे मौका दो आंटी आपकी चुत का भोसड़ा न बना दिया तो कहना.

ये कह कर मैंने अपना लंड बाहर निकाला कर दिखा दिया. आंटी एकदम चुप थीं और लंड देख रही थीं.

मैंने फिर से कहा- आंटी मौक़ा है … आप एक बार मेरे साथ मजा ले लो … फिर आप खुद मेरा फ़ोन लेकर डिलीट कर देना.

बहुत सोचने के बाद वो मान गईं और पूछने लगीं- तुम्हारा दोस्त किधर है?
मैंने कहा- वो मेरे किसी काम से गया है, आने से पहले मुझे फोन करेगा.

ये सुनकर आंटी खुश हो गईं. उनकी मुस्कराहट देख कर मेरी ख़ुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा.

वो बोलीं- मैं तुम पर भरोसा कर रही हूँ, तुम मेरी इज्जत का ख्याल रखना.

मैंने अपने दोस्त की मां को कसके अपनी बांहों में भर लिया और उनके नर्म नर्म होंठों को चूसना शुरू कर दिया.
मैंने उन्हें पूरी तरह से आश्वस्त किया कि आंटी आप मेरी तरफ से एकदम बेफिक्र रहें.

मैं ये कह कर आंटी को फिर से चूमने लगा.

पहले पहल तो आंटी मेरे किस का जवाब नहीं दे रही थीं, फिर अपने आप ही उन्होंने मुझको किस करना शुरू कर दिया.

जब मेरे दोस्त की मम्मी की सेक्स पावर ऑन हुई, तब तो क्या बोलूं आपको … आह वो तो एक भूखी पोर्न ऐक्ट्रेस सी साबित हुईं.

वो बोलीं- मैं बाथरूम होकर आती हूँ.
मैंने हां कह दी.

वो गईं तो मैंने अपने फ़ोन से दोस्त को मैसेज कर दिया कि भाई अब आकर देख ले लाइव.

उसका जवाब भी आ गया- ओके … आता हूँ.

फिर दो मिनट बाद पंजाबी आंटी कमरे में आईं तो मैंने उनको पूरी नंगी कर दिया और घर के बीच में ले गया.

वो बोलीं- इधर क्यों, कमरे में कर ना!
मैंने कहा- आंटी, मुझे खुले में आपको चोदने का मन है.

आंटी कुछ नही बोलीं, क्योंकि पूरा घर सूना था.

मैं बाहर आंगन में आंटी को ले आया और उन्हें घुटनों के बल बिठा कर उनके मुँह में अपना लंड डाल दिया.
वो मज़े से लंड चूसने लगीं.

मुझे सच में इतना ज्यादा मजा आ रहा था कि मैं बता ही नहीं सकता.

मेरा पूरा लंड आंटी अपने मुँह में लेने की कोशिश कर रही थीं पर लंड साइज बड़ा था, तो वो जितना अन्दर ले पा रही थीं, उतना अन्दर ही लंड ही लेकर चूस रही थीं.

कुछ देर बाद मैंने देखा कि मेरा दोस्त हम दोनों को देख कर मुठ मार रहा था.
ये देख कर मेरे अन्दर और जोश आ गया और मैंने आंटी का चेहरा पकड़ कर अपना पूरा लंड उसके गले तक उतार दिया.

उनको सांस लेने में प्रॉब्लम हुई तो मैंने लंड मुँह से निकाल लिया.
वो खांसते हुए बोलीं- आह लाइफ में आज तक इतना बड़ा लंड नहीं देखा. आज मज़ा आ जाएगा यार … तुम पहले क्यों नहीं आए मेरे पास!
मैंने बोला- अब तो आ गया हूँ न मेरी रंडी … अब चल घोड़ी बन जा.

पंजाबी आंटी सेक्स के लिए झट से घोड़ी बन गईं और मैंने पीछे से उनकी झांटों वाली चूत में अपना लंड सैट कर दिया.
फिर एक ही बार में पूरा लंड चुत की जड़ में अन्दर तक पेल दिया.

आंटी की इतनी तेज चीख निकली कि आस-पास वालों को पता चल गया होगा कि इनके घर में आज चुदाई चल रही है.

मैंने आंटी को पूरा मज़े लेकर चोदा और खूब दूध मसले.
फिर मैं आंटी के नीचे आ गया और वो मेरे ऊपर बैठ कर मेरे लंड की सवारी करने लगीं.

काफी लम्बी चुदाई के बाद मेरा निकलने वाला था तो मैंने बोला- मेरा माल आ रहा है … रस कहां लेगी मेरी रंडी!
आंटी बोलीं- मुझको बच्चा चाहिए तेरे से क्योंकि तू दिखने में हैंडसम है. अन्दर ही बीज टपका दे.

फिर मैंने उनको नीचे किया और ऊपर से लंड पेल कर चुदाई की स्पीड तेज कर दी.दस बारह धक्कों के बाद मैंने आंटी की चूत में अपना सारा माल छोड़ दिया.

मेरा दोस्त यह सब देख और सुन रहा था. फिर हम दोनों ने किस किया और कपड़े पहन कर बैठ गए.

कुछ देर बाद मेरा दोस्त बाहर से अन्दर आया और उसने अपनी मां को देखा, तो वो आज पहले से बहुत खुश दिख रही थीं.

आंटी उठ कर लस्सी बनाने चली गईं.

फिर वो मेरे पास आकर बोला- तू तो बड़ी खतरनाक चुदाई करता है. मैं तेरा फैन हो गया यार.

उसी दिन मुझको वापिस जाना था. मगर मालूम हुआ कि दोस्त के पापा को अमृतसर जाना है तो आंटी ने मुझे घर पर रोक लिया.

मैंने दोस्त से कहा- तुम भी अपने पापा के साथ अमृतसर चले जाओ.
वो समझ गया.

उन दोनों बाप बेटे के जाते ही आंटी मेरे साथ लिपट गईं. उस रात हम दोनों ने दारू पीकर चुदाई का खूब मजा लिया.

दूसरे दिन मैं जाने की कहने लगा. मेरे दोस्त को भी आज वापस आना था.
आंटी ने कहा- जाते समय एक बार और मन भर दे.

मैंने अपनी पंजाबी आंटी को एक किस किया और चोद कर लंड चुसवाया.

फिर मैं अपने घर संगरूर आ गया.

एक महीने बाद मेरे दोस्त की मम्मी का मैसेज आया कि मेरी माहवारी रुक गई है और मैं पेट से हो गई हूँ. मेरे को बच्चा होने वाला है.
मैंने उन्हें बधाई दी.

फिर दोस्त को बताया कि ऐसा हुआ है, तो वो भी खुश हो गया.

दोस्तो, कैसी लगी मेरी पंजाबी आंटी सेक्स कहानी, कुछ गलत लिखा गया हो तो माफ़ कर दीजिएगा.

अब आपको मेरी कलम से और भी सेक्स कहानियों का पैक देखने को मिलेगा क्योंकि मैंने अभी तक कुछ कहानियां साझा नहीं की हैं … पर अब करूंगा.

अगली सेक्स कहानी में आप देखोगे कि कैसे मैंने अपने शुक्राणु से एक औरत को गर्भवती किया और आज उसके पास मेरा दिया हुआ बेटा है.
आपके मेल का इंतजार रहेगा.
ईमेल आईडी है
[email protected] Instagram – realmememinati

About Abhilasha Bakshi

Check Also

उम्रदराज विधवा की चूत चुदाने की ख्वाहिश (Umdaraj Vidhwa Ki Chut Chudane Ki Khwahish)

मेरा नाम राज है.. मैं जबलपुर क़ा हूँ। मेरी उम्र 40 साल की है। मैं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *